15 साल पहले हत्या की और पहचान छिपाकर दे रहा था चकमा, पुलिस ने इस तरह पकड़ा

15 साल पहले हत्या की और पहचान छिपाकर दे रहा था चकमा, पुलिस ने इस तरह पकड़ा

Shubham Singh | Publish: Nov, 10 2018 01:44:35 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने हत्या के आरोपी को सतना से किया गिरफ्तार

शहडोल। हत्या करने के बाद आरेापी फरार हो गया। उसके बाद सालों पुलिस को छकाता रहा। पुलिस से बचने के लिए उसने अपनी पहचान छिपा ली। इसके बाद पुलिस जब भी उसके पकडऩे के लिए पहुंचती वह पुलिस को चकमा देकर बच निकलता था। लेकिन पुलिस भी हार नहीं मान रही थी। पुलिस बल मुखबिर की सूचना पर उसे पकडऩे के लिए लगातार प्रयास कर रहा था। आखिकरकार एक दिन वह पुलिस की पकड़ में आ ही गया। पुलिस को मुखबिर ने सूचना दी कि आरोपी सतना में पहचान छिपाकर रह रहा है। इसके बाद पुलिस ने उसे चारों तरफ से घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उसे पकडऩे के बाद संतोष की सांस ले रही है। चूंकि पूर्व में कई बार वह चकमा देकर भाग निकला था। इसलिए पुलिस बल निराश होने लगा था। लग रहा था कि वह पुलिस के हाथ नहीं आएगा लेकिन पुलिस के लगातार प्रयास ने कामयाबी दिला ही दी।


हत्या के बाद से फरार चल रहा था
हत्या के मामले में कोतवाली पुलिस ने 15 सालों से फरार आरोपी को सतना से गिरफ्तार किया है। कोतवाली टीआई रावेन्द्र द्विवेदी के अनुसार, 4 जुलाई 2002 को च'चू शर्मा निवासी घरौला मोहल्ला की हत्या बंटी उर्फ जाकिर, संजय सेन ने अपने साथी संजय उर्फ संजू सिंह के साथ मिलकर की थी। हत्या के बाद से आरोपी संजय लगातार फरार चल रहा था। पुलिस की भनक लगते ही आरोपी चकमा देकर भाग निकलता था। पुलिस ने कई बार कटनी, सतना और रीवा में दबिश दी थी लेकिन आरोपी नहीं मिला था। पुलिस के अनुसार आरोपी पहचान छिपाकर लंबे समय से फरार था। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एसपी, एएसपी और एसडीओपी के नेतृत्व में टीम ने ताला सतना स्थित आरोपी के घर में दबिश देकर संजू सिंह को गिरफ्तार किया है। कार्रवाई में टीआई रावेन्द्र द्विवेदी, एआई एमपी अहिरवार, एएसआई दिलीप सिंह, सुरेश कुमार, मनहरण पांडेय की भूमिका थी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned