अस्पताल और एसएनसीयू की तैयारी पूरी, स्टाफ की कमी बन रही रोड़ा

कोविड स्टाफ की मदद से शुरु करने की थी तैयारी उन्हे भी कर दिया बाहर

By: amaresh singh

Updated: 20 Feb 2021, 12:04 PM IST

शहडोल. जिला चिकित्सालय के एसएनसीयू और पीआईसीयू वार्ड में दिसम्बर माह में लगातार हुई बच्चों की मौत से प्रदेश स्तर पर हड़कंप मच गया था। जिसके बाद फौरी तौर पर मेडिकल कॉलेज में एसएनसीयू वार्ड प्रारंभ करने की तैयारी प्रारंभ कर दी गई थी। मेडिकल कॉलेज में वार्ड तैयार हो गए, उपकरण आ गए साथ ही अन्य आवश्यक तैयारियां भी आनन-फानन में कर ली गई। 20 बेड का एसएनसीयू वार्ड तैयार किया गया था लेकिन स्टाफ व अन्य सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए 10 बेड से इसकी शुरुआत करने की बात कही गई। साथ ही जनवरी से मेडिकल कॉलेज प्रबंधन अस्पताल प्रारंभ करने की भी तैयारी में था। स्टाफ की कमी इनके संचालन में रोड़ा बन रही है।


कोविड स्टॉफ भी बाहर
प्रबंधन द्वारा निर्णय लिया गया था कि कोविड स्टॉफ की मदद से 10 बेड का एसएनसीयू वार्ड और अस्पताल प्रारंभ किया जाएगा। इस बीच कोविड के लगभग 51 नर्सिंग स्टॉफ को बाहर कर दिया गया। जिसके बाद अब 36 नर्सिंग स्टॉफ ही बचा हुआ है जिनकी ड्यूटी कोरोना वार्ड में लगी है। ऐसे में प्रबंधन की इस मंशा पर पानी फिर गया और तैयारी के बाद भी एसएनसीयू और अस्पताल प्रारंभ नहीं हो पाया।


200 नर्सिंग स्टॉफ की आवश्यक्ता
मेडिकल कॉलेज में अस्पताल प्रारंभ करने के लिए फिलहाल 200 नर्सिंग स्टॉफ की आवश्यक्ता है। जबकि मेडिकल कॉलेज प्रबंधन के पास एक भी रेगुलर स्टॉफ फिलहाल नहीं है। जिसके चलते अस्पताल प्रारंभ नहीं हो पा रहा है। बताया जा रहा है व्यापम के माध्यम से भर्ती प्रक्रिया चल रही है। भर्ती प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही अस्पताल प्रारंभ हो सकेगा।


एसएनसीयू : 8 डॉक्टर, 30 नर्सिंग स्टाफ की आवश्यकता
मेडिकल कॉलेज में एसएनसीयू वार्ड के विधिवत संचालन व क्लॉक वाइज ड्यूटी के लिए 8 डॉक्टर, 4 सीनियर रेसीडेंस व 8 जूनियर रेसीडेंस की आवश्यक्ता है। जिसमें से प्रंबंधन के पास दो चिकित्सक व 4 जूनियर रेसीडेंट उपलब्ध है। वहीं जूनियर रेसीडेंट के सभी पद खाली है। वैसे मेडिकल कॅलेज में सीनियर रेसीडेंट के 8 पद स्वीकृत है जिसकी जगह 4 ही भरे हुए हैं। वहीं जूनियर रेसीडेंट के 10 पद स्वीकृत हैं जिसके पदों की भरपाई नहीं हो पाई है। जिसकी वजह आगामी दिनो में होने वाली परीक्षा की तैयारी को बताया जा रहा है।
इनका कहना है
अस्पताल और एसएनसीयू वार्ड प्रारंभ करने की पूरी तैयारी हो चुकी है। जनवरी माह में प्रारंभ होना था लेकिन नर्सिंग स्टॉफ की कमी की वजह से प्रारंभ नहीं हो पाया। भर्ती प्रक्रिया प्रारंभ हैं स्टॉफ आते ही इन्हे प्रारंभ किया जाएगा।
नागेन्द्र सिंह, अधीक्षक मेडिकल कॉलेज शहडोल

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned