प्रभारी मंत्री ने लगाई चौपाल, जनता ने कहा- साहब पहले राशन तो दिलाओ

मुख्यमंत्री के बाद अब प्रभारी मंत्री के दौरे में राशन गड़बड़ी की सामने आई हकीकत

By: amaresh singh

Published: 22 Jul 2021, 10:19 PM IST

शहडोल. जिले के प्रभारी मंत्री ने पहले दौरे में जयसिंहनगर के टिहकी गांव पहुंचकर ग्रामीणों के साथ चौपाल लगाते हुए समस्याएं सुनी। यहां पर ग्रामीणों ने राशन गड़बड़ी का मामला उठाया। ग्रामीणों ने प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल को बताया कि कई परिवारों को राशन नहीं दिया गया है। इस माह भी राशन नहीं बांटा गया है। जबकि मुख्यमंत्री ने पात्र परिवारों को राशन देने की बात कही थी। क्षेत्र के 50 से ज्यादा परिवार ऐसे हैं, जिन्हे राशन नहीं दिया गया है। जिसके बाद प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल ने अधिकारियों से जांच कराते हुए पात्र परिवारों को राशन देने के निर्देश दिए। प्रदेश शासन के राज्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण व जिले के प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल ने जनपद पंचायत जयसिंहनगर की ग्राम टिहकी पहुंचे थे। ग्रामीणों ने बताया कि उन्हें राशन नहीं मिल रहा है। प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पात्र ग्रामीणों को प्राथमिकता के साथ राशन दिलाएं। ग्रामीणों ने प्रभारी मंत्री को बताया कि गांव में बिजली नहीं रहती है। इस दौरान विधायक जयसिंहनगर जयसिंह मरावी, विधायक ब्यौहारी शरद कोल, भाजपा अध्यक्ष कमल प्रताप सिंह सहित कई अधिकारी रहे।

मुख्यमंत्री के दौरे में भी उठा था मुद्दा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के शहडोल दौरे के वक्त भी राशन गड़बड़ी का मुद्दा उठाया था। मंच से राशन वितरण की जानकारी पूछने पर ग्रामीणों ने खाद्यान्न न मिलने की शिकायत की थी। बाद में सीएम ने जांच कराते हुए एक-एक घरों का सत्यापन करने के निर्देश दिए थे लेकिन अधिकारियों ने गिनती के गांव में सत्यापन करते हुए खानापूर्ति कर ली है। उधर लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई भी नहीं हुई है।

एक माह के राशन वितरण में हेरफेर
राशन दुकानों में लगातार गड़बडिय़ा उजागर हो रही है। खराब राशन वितरण, दुकान न खोलना, हितग्राहियों को कम राशन वितरण, नि:शुल्क खाद्यान्न आवंटन के आदेश के बाद भी हितग्राहियों से पैसे लेने जैसी शिकायतें सामने आ रही है। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री कल्याण योजना से पांच माह का राशन देना था लेकिन अधिकांश दुकानों में सिर्फ चार माह का राशन देकर एक माह का हेरफेर कर दिया है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned