भोपाल से आई मच्छर दानियों की जांचा क्वालिटी, चेन्नई की टीम ले गई सेम्पल

भोपाल से आई मच्छर दानियों की जांचा क्वालिटी, चेन्नई की टीम ले गई सेम्पल

raghuvansh prasad mishra | Publish: Dec, 08 2018 09:00:29 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

जांच रिपोर्ट आने के बाद होगा वितरण

शहडोल. मलेरिया के रोक थाम के लिए भोपाल से शहडोल भेजी गई तेरह लाख से अधिक मच्छर दानियों को चेन्नई की टीम ने गुरुवार को क्वालिटी की जांच की है। क्वालिटी क्ंट्रोलर गोदाम में रखी मच्छर दानियों का सेम्पल भी साथ में ले गए है। जिस का वितरण मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों में फिलहाल रुक गया है। अब क्वालिटी कंट्रोलर की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही मच्छर दानियों को जनपद क्षेत्रों में भेजा जा सकेगा। चेन्नई से आने वाले क्वालिटी कंट्रोलर अधिकारियों में आर भास्कर और वी श्रीधरन शामिल रहे। निरीक्षण के दौरान जिला मलेरिया अधिकारी आई बी सिंह और उनकी टीम मौजूद रही।
बताया गया है कि यह लाट नवम्बर महीने में शहडोल पहुंचा है। जिसे नरसरहा वेयर हाउस में सुरक्षित रखा गया है। इस लाट में 13 लाख 66 हजार 807 मच्छर दानिया है। जिसे रीवा संभाग के पुराने छह जिलों में वितरण करना है। जिसमे रीवा, सीधी, सिंगरौली, शहडोल, उमारिया और अनुपपुर में भेजना है। यह मच्छर दानी मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों में जनपद पंचायत के माध्यमों से वितरण कराया जाएंगा।
चेन्नई से मच्छरदानी की क्वालिटी जांच की रिपोर्ट आने के बाद शहडोल जिले के मलेरिया प्रभावित क्षेत्रों में दो लाख पचपन हजार पांच सौ पचास मच्छरदानियों का वितरण शुरू किया जाएंगा। वितरण के लिए मच्छरदानिया जिले के पांचों जनपद पंचायतों में भेजी जाएंगी। जिनके माध्यम से प्रभावितों को बांटी जाएंगी।
प्रकरणों को चिन्हित कर तत्काल प्रस्तुत करे वाकालतनामा
. आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत की उपस्थित में शुक्रवार को समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में आयुक्त लोक शिक्षण ने संभाग के सभी जिला शिक्षा अधिकरीयाओं को निर्देश दिये की वे शिक्षा विभाग से सम्बन्धित न्यायालयों में लंबबित न्यायालय प्रकरण का निराकारण सुनिश्चित करोयें। उन्होने निर्देश दिये कि, जिन्हें न्यायालीक प्रकरण में वाकालतनामा प्रस्तुत नहीं किया गया है। ऐसे प्रकरणों को चिन्हित कर तत्काल वाकालतनामा प्रस्तुत किया जाये। तथा न्यायालयों में समय पर प्रकरणों में जवाब प्रस्तुत किया जाये। आयुक्त लोक शिक्षण ने सभी जिला षिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि न्यायालयों में लंबबित आवमन्यया के प्रकरणों में तत्काल जबाव प्रस्तुत किया जाये। बैठक में आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा कक्षा पहली से बारवीं तक के छात्र-छात्राओं का शत-प्रतिशत नामाकंन प्रोफाइल मैपीगं करना सुनिश्चित किया जाये। आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा साइकिल वितरण की समीक्षा की गई। कलेक्टर जिला शहडोल अनुभा श्रीवास्तव द्वारा निर्देश दिये गय की समस्त पैडिंग कार्य समय-सीमा में पूर्ण करें।
बैठक में सयुक्त संचालक शिक्षा सहदेव मैरावी, जिला शिक्षा अधिकारी उमेश कुमार धुर्वें, जिला शिक्षा अधिकारी राणवा सिंह, जिला शिक्षा आधिकारी युके सिंह बघेल,जिला परियोजना समन्यवक जिला शिक्षा केन्द्र डॉ मदन त्रिपाठी, सहायक जिला परियोजना समन्यवक अरविन्द्र कुमार पाण्डेय एवं जिलों के एडीपीसी. उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned