scriptRecruitment scam : Officers formed a tie-up with 53 employees, against | भर्ती घोटाला : अधिकारियों ने गठजोड़ कर 53 कर्मचारियों का कर दिया नियम विरुद्ध संविलियन, बेटे और नजदीकी भी शामिल | Patrika News

भर्ती घोटाला : अधिकारियों ने गठजोड़ कर 53 कर्मचारियों का कर दिया नियम विरुद्ध संविलियन, बेटे और नजदीकी भी शामिल

नवगठित नगर परिषद बकहो में 53 पंचायतकर्मियों का नियम विरुद्ध संविलियन
आयुक्त नगरीय प्रशासन ने जेडी, दो सीएमओ, उपयंत्री और सहायक यंत्री को किया निलंबित, तीन पर कार्रवाई की अनुशंसा

शाहडोल

Published: December 07, 2021 12:32:09 pm

शहडोल. अधिकारियों ने गठजोड़ कर शासन के निर्देशों को हासिए पर रख नवगठित निकाय बकहो में 53 कर्मियों का नियम विरुद्ध संविलियन कर दिया। जिसमें अधिकारियों के सगे संबंधी भी शामिल थे। मामला उजागर हुआ तो अधिकारियों ने अपनी रसूख और पहुंच के दम पर मामले को रफा-दफा को कर दिया। नवगठित निकाय में हुए भर्ती घोटाले की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए संचालनालय नगरीय प्रशासन एंव विकास विभाग द्वारा मामले की जांच कराई गई। जिसमें जेडी सहित पांच अधिकारी और तीन अन्य की संलिप्तता उजागर हुई है। जिस पर कार्रवाई करते हुए आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग द्वारा पांचों अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के साथ ही तीन अन्य के विरुद्ध कार्रवाई की अनुशंसा की है। साथ ही भर्ती दिनांक से अब तक संविलियन हुए कर्मचारियों को भुगतान किए गए वेतन 65 लाख रुपए के लिए भी संबंधित अधिकारियों को दोषी माना है।
संविदा और मानदेय कर्मियों का नियमित पदों पर संविलियन
ग्राम पंचायत बकहों की सम्पत्यिों एवं दायित्वों के हस्तांतरण तथा मूल कर्मचारियों का संविलियन नगर परिषद बकहो में किए जाने समिति का गठन किया गया था। समिति में शामिल पदाधिकारी और सदस्यों द्वारा नगर परिषद बकहो के गठन पर ग्राम पंचायत बकहो में संविदा/मानदेय पर कार्यरत 14 कर्मचारियों के साथ-साथ उन 39 कर्मचारियों जिनकी नियुक्ति मानदेय पर नगर परिषद बकहो के गठन की अधिसूचना प्रकाशित होने के बाद की गई थी जो कि ग्राम पंचायत क्षेत्र के निवासी भी नही थे की सूची भी प्रपत्र में तैयार कर संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास शहडोल को सौंपी थी। कर्मचारियों के संविलियन के लिए चयन समिति की बैठक आयोजित किए जाने की अनुशंसा की गई थी। जिसके बाद चयन समिति में लिए निर्णय के बाद 1 संविदा कर्मी एवं 52 मानदेय कर्मियों का संविलियन परिषद बकहो के नियमित पदों किया था।
जेडी नेबेटे का किया संविलियन, अन्य के बेटों की भी संलिप्तिता
जिनके हाथों में पूरी भर्ती प्रक्रिया को पूर्ण करने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी उन्होने अवसर में बदलने में कोई कोर कसर नहीं छोंड़ी और अपने बेट व नजदीकी रिश्तेदारों को अवसर का पूरा लाभ दिया। नगर परिषद बकहो में कर्मचारियों के संविलियन को लेकर गठित चयन समिति के अध्यक्ष रहे मकबूल खान जेडी नगरीय प्रशासन ने अन्य अपात्र मानदेय कर्मियों के साथ अपने पुत्र आदिल खान का भी संविलियन किया गया। इसी प्रकार तत्कालीन सचिव समय लाल ङ्क्षसह के बेटे भंवर सिंह का सम्मिलित होना पाया गया। सहायक यंत्री राकेश तिवारी द्वारा जिस समिति के सदस्य की हैसियत से काम किया जा रहा था उसमें बेटे रोहित तिवारी व प्रवीण तिवारी भी सम्मिलित थे। स्थाई कर्मी सुरेश चन्द्र शुक्ला के पुत्र अखिलेश शुक्ला भी शामिल होने की बात कही गई है।
इन अधिकारियों की सांठगांठ सामने आई, हुई निलंबन की कार्रवाई
नगर परिषद बकहो में हुए इतने बड़े घोटाले में संचालनालय द्वारा गठित समिति के सदस्यों द्वारा सौंपी गई जांच रिपोर्ट के आधार पर संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास शहडोल सहित आठ की संलिप्तता उजागर हुई है। जिसमें मकबूल खान संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास शहडोल, रविकरण त्रिपाठी मुख्य नगर पालिका अधिकारी धनपुरी, जयदीप दीपांकर सीएमओ नगर परिषद बकहो, अजीत रावत उपयंत्री संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास शहडोल, फूलमती तत्कालीन सरपंच ग्राम पंचायत बकहो, समय लाल सिंह तत्कालीन सचिव ग्राम पंचायत बकहो, राकेश तिवारी सहायक यंत्री सहायक यंत्री कार्यालय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास यांत्रिकी प्रकोष्ठ शहडोल सहित सुरेश चन्द्र शुक्ला (स्थाई कर्मी नगर पालिका परिषद पाली) कार्यालय संयुक्त संचालक नगरीय प्रशासन एवं विकास शामिल हैं। जिनमें से जेडी, सीएमओ धनपुरी व बकहो, उपयंत्री एवं सहायक यंत्री को निलंबित कर दिया गया है। वहीं तत्कालीन सरपंच व सचिव के साथ स्थाई कर्मी के विरुद्ध कार्रवाई की अनुशंसा की गई है।
पत्रिका ने उजागर किया था मुद्दा
अधिकारियों ने रखूस के चलते रिश्तेदार और रुपयों का लेनदेन कर भर्तियां कर ली थी। जांच के निर्देश भी हुए थे लेकिन राजनीतिक रसूख और बड़े अधिकारियों की संलिप्तता में मामला दबा दिया गया था। पत्रिका की खबर पर संज्ञान लेते हुए कमिश्नर ने रिपोर्ट तलब की थी।


भर्ती घोटाला : अधिकारियों ने गठजोड़ कर 53 कर्मचारियों का कर दिया नियम विरुद्ध संविलियन, बेटे और नजदीकी भी शामिल
भर्ती घोटाला : अधिकारियों ने गठजोड़ कर 53 कर्मचारियों का कर दिया नियम विरुद्ध संविलियन, बेटे और नजदीकी भी शामिल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%Ration Card से राशन नहीं लेने वालों पर भी होगी कार्यवाई, दूसरे के कार्ड का इस्तेमाल करने पर हो सकती है सज़ाराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमतिJaipur Corona Update: जयपुर में आज मिले 2919 नए कोरोना मरीज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.