scriptRelatives of patients forced to cook food on the roadside in heavy rai | यहां भरी बरसात में सड़क किनारे खाना पकाने मजबूर मरीजों के परिजन | Patrika News

यहां भरी बरसात में सड़क किनारे खाना पकाने मजबूर मरीजों के परिजन

मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने रैन बसेरा में लगा रखा है ताला

शाहडोल

Published: July 08, 2022 12:06:46 pm

शहडोल. 450 करोड़ के मेडिकल कॉलेज भवन में मरीजों के परिजनों के लिए एक टीन शेड की भी व्यवस्था नहीं है। रैन बसेरा में प्रबंधन का ताला लटक रहा है। ऐसे में मरीजों के परिजन मेडिकल कॉलेज प्रवेश द्वार की सड़क के किनारे खुले आसमान के नीचे खाना बनाने मजबूर हैं। बरसात के इन दिनों में चूल्हे में गरीबों का खाना कैसे पकता होगा यह उनसे बेेहतर कोई नहीं बता सकता। ऐसा नहीं है कि दूर-दराज से आने वाले इन गरीबों की व्यथा से प्रबंधन वाकिफ नहीं है। हर दिन यहीं से प्रबंधन व स्टाफ का आना-जाना होता है। इसके बाद भी इनकी परेशानियों को नजर अंदाज किया जा रहा है।
प्रबंधन को नहीं कोई परवाह
मेडिकल कॉलेज में मरीजों के अंडेरों की सुविधा के लिए रैन बसेरा बनाया गया है जिस पर लंबे समय से ताला लटक रहा है। जब से मेडिकल कॉलेज में ओपीडी की सुविधा शुरु हुई है तब से यहां बड़ी संख्या में मरीजों का आना होता है। जिले ही नहीं बल्कि पूरे संभाग भर से लोग अपना इलाज कराने यहां आते हैं। बावजूद उनकी सुविधा को प्रबंधन दरकिनार कर रहा है। मरीजों के अटेंडरों से बात करने पर उन्होंने बताया कि वह इस मंशा यहां आते ही कि उन्हें अच्छा इलाज मिल सके। वहीं मेडिकल कालेज प्रबंधन लोगों को यहां की सुविधाओं से वंचित कर रहा है। जिसके कारण दूर-दराज से आने वाले मरीजों को दिक्कत का सामना करना पड़ता है। उनके परिजन हर जीच के यहां-वहां भटकते रहते हैं।
इनका कहना है
प्रतिदिन हमें खुले में ही खाना बनाना पड़ता है। यहां रैन बसेरा होने के बाद भी उस पर ताला लटका हुआ है। यहां बाहर से मरीजों के सभी अटेंडरों को ऐसे ही खुले आसमान के नीचे खाना बनाना पड़ता है। बारिश के इस मौसम हमें काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। तेज बारिश के कारण खाना बनाने में दिक्कत होती है।
नंदनी बंसल, कोतमा जिला अनूपपुर।
..........................
हमें रैन बसेरा के बारे में जानकारी मिली थी पर वहां जाकर देखा तो उसमें ताला लटका हुआ था। बारिश में भी हमें पन्नी ओढ़कर या तो भीगते हुए खाना बनाना पड़ता है जिस कारण बहुत परेशानी होती है। खाना बनाते समय बारिश में भीग जाने के कारण कई बार हम लोगों को सर्दी-बुखार जैसी बीमारी का खतरा बन जाता है।
अजय साकेत, वनसुकली, जिला शहडोल।

यहां भरी बरसात में सड़क किनारे खाना पकाने मजबूर मरीजों के परिजन
यहां भरी बरसात में सड़क किनारे खाना पकाने मजबूर मरीजों के परिजन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: महाराष्ट्र में स्टील कारोबारी पर इनकम टैक्स का छापा, करोड़ों रुपये कैश सहित बेनामी संपत्ति जब्तJammu-Kashmir: उरी जैसे हमले की बड़ी साजिश हुई फेल, Pargal आर्मी कैंप में घुस रहे 3 आतंकी ढेरजगदीप धनखड़ आज लेंगे 14वें उपराष्ट्रपति पद की शपथ, दोपहर 12:30 बजे राष्ट्रपति भवन में होगा समारोहकाले कारनामों को छिपाने के लिए 'काला जादू' जैसे अंधविश्वासी शब्दों का इस्तेमाल करें बंद, राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशानाMaharashtra: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभाग बंटवारे का इंतजार, गृह और वित्त मंत्रालय पर मंथन जारीचुनाव में मुफ्त की योजनाओं पर सुप्रीम कोर्ट में आज होगी सुनवाईRaksha Bandhan 2022: भाइयों के खुशहाल जीवन और समृद्धि के लिए उनकी राशि अनुसार बांधें इस रंग की राखीबिहार सीएम की शपथ लेने के साथ अपने ही रिकॉर्ड तोड़ने से चूके Nitish Kumar, 24 अगस्त को साबित करेंगे बहुमत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.