बांढ़ आपदा से निपटने रेस्क्यू टीम व गोताखोर तैयार, बाणसागर परियोजना के अधिकारी कंट्रोल रूम को देंगे जानकारी

बांढ़ आपदा से निपटने रेस्क्यू टीम व गोताखोर तैयार, बाणसागर परियोजना के अधिकारी कंट्रोल रूम को देंगे जानकारी

raghuvansh prasad mishra | Updated: 12 Jun 2019, 07:58:17 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

आपदा प्रबंधन की जिला स्तरीय बैठक में निर्देश

शहडोल . कलेक्टर कार्यालय के सभागार में बुधवार को वर्षा पूर्व आपदा प्रंबधन की जिला स्तरीय बैठक कलेक्टर ललित दाहिमा की उपस्थित में सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ललित दाहिमा ने कहा कि बॉढ़ प्रभावित क्षेत्रों में सभी तैयारियॉ पूर्व से सुनिश्चित कर ली जायें। उन्होने कहा कि जंगल की आग औद्योगिक दुर्घटना, भूकम्प, सूखा सभी प्राकृतिक आपदा के पूर्व प्रबंधन की आवश्कता है। कलेक्टर ने कहा कि बॉढ़ की स्थिति में सतत निगरानी के लिए जिला स्तर पर कंट्रोल रूम कलेक्ट्रेट कार्यालय में स्थापित किया गया है। डिप्टी कलेक्टर धमेन्द्र मिश्रा जिला स्तरीय आपदा प्रबंधन के नोड़ल अधिकारी होंगे तथा कंट्रोल रूम प्रभारी एसएलआर प्रदीप मोगरे को बनाया गया है। अनुभाग स्तर पर एसडीएमनोड़ल अधिकारी होंगे तथा एसडीओपी, टीआई, बीएमओ, नगर पालिका अथवा नगर पंचायत अधिकारी को टीम में शामिल किया गया है। कलेक्टर ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में मुख्य कार्य पालन अधिकारी जनपद पंचायत को अनुभाग स्तरीय आपदा प्रबंधन टीम में शामिल होंगे। कलेक्टर ने कहा कि नगरीय क्षेत्रों में वर्षा पूर्व नालो की साफ-सफाई एवं निचली बस्ती में पानी इकठ्ठा न होने पायें इसके लिए साफ-सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित करें एवं सभी नगर पालिका एवं नगर पंचायत स्तर पर अग्निशमन वाहन व्यवस्था दुरूस्त रखें। कलेक्टर ने कहा कि बाणसागर परियोजना के अधिकारी बांध का पानी छोडऩे के पूर्व व्यक्तिगत रूप से टेलीफोन, एसएमएस एवं पत्र के द्वारा सूचना कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक सीधी, सिंगरौली एवं शहडोल तथा संबंधित जिलो के कंट्रोल रूम को देवे। पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह ने कहा कि आपदा अचानक आती है, इसके लिए हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है। सभी आपदा से संबंधित सभी विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारियों की संयुक्त टीम बनायें जो कंट्रोल रूम अथवा चिन्हित स्थान में 8-8 घंटे की डयूटी में उपलब्ध रहे और उनके पास आपातकालीन सभी व्यवस्थाएॅ उपकरण भी रहे। आपदा की स्थिति में मिशन की तरह कार्य करें ताकि सभी अनचाही आपदा की स्थिति से निपटा जा सकें। पुलिस अधीक्षक ने जिला कंमाण्डेंट को निर्देशित किया कि जिला रेस्क्यू टीम, गोताखोर एवं उपकरणो सहित तैयार रहे। कलेक्टर ने कहा कि आपदा की स्थिति में स्कूलो या सार्वजनिक स्थानो का चयन कर ले तथा टीम भी तैयार रखे जो कि आपदा की स्थिति में भोजन, पेयजल आदि की व्यवस्था सुनिश्चित कर सकें। इस टीम में स्वयंसेवी संस्थाओ को भी शामिल किया जायें। बैठक में अपर कलेक्टर अशोक ओहरी, संयुक्त कलेक्टर सुरेश अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर धर्मेन्द्र मिश्रा सहित पुलिस, पशु चिकित्सा, स्वास्थ्य, शिक्षा, विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned