छोटे बच्चों के लिए खुले स्कूल, अभिभावक में कोविड का भय, नहीं दे रहे सहमति

जिले की1625 प्राथमिक विद्यालयों में भी लौटी रौनक
पहले दिन पांच से छह छात्र ही पहुंचे विद्यालय

By: shubham singh

Published: 20 Sep 2021, 08:19 PM IST

छोटे बच्चों के लिए खुले स्कूल, अभिभावक में कोविड का भय, नहीं दे रहे सहमति
जिले की1625 प्राथमिक विद्यालयों में भी लौटी रौनक
पहले दिन पांच से छह छात्र ही पहुंचे विद्यालय
शहडोल. कोविड की बदौलत बंद पडे शैक्षणिक संस्थानो को फिर से प्रारंभ किया जा रहा है। माध्यमिक से हायरसेकेण्ड्री के बाद अब प्राथमिक विद्यालयों को भी संचालित करने के भी निर्देश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी किए गए हैं। जिसके तहत सोमवार से जिले के लगभग 1625 प्राथमिक विद्यालय छात्रों के लिए खोले गए। निर्धारित समय पर विद्यालय खोले गए लेकिन छात्रों की संख्या नगण्य ही रही। कहीं पांच तो कहीं छह छात्र ही विद्यालय पहुंचे हुए थे। शिक्षकों ने चर्चा के दौरान बताया कि अभी भी अभिभावकों में कोविड का खौफ बना हुआ है। ऐसे में छोटे बच्चों को विद्यालय भेजने वह कतरा रहे हैं। विद्यालय का पहला दिन होने की वजह से भी छात्र संख्या कम है। साथ ही अभिभावक भी अभी छात्रों को विद्यालय भेजने सहमति प्रदान नहीं कर रहे हैं।
मुह में मास्क और हाथ में बैग लेकर पहुंचे बच्चे
सोमवार को प्राथमिक विद्यालय खुलने के साथ ही कुछ बच्चे विद्यालय पहुंचे। बच्चों के मुह में मास्क था और हाथो में बैग। विद्यालय पहुंचने के साथ ही स्कूल प्रबंधन द्वारा छात्र-छात्राओं के हाथ को सैनेटाइज कराया गया। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग के साथ छात्रों की बैठक व्यवस्था बनाई गई। साथ ही अभिभावकों के सहमति पत्र भी जमा कराए गए।
आधी क्षमता के साथ खुलने है विद्यालय
उल्लेखनीय है कि कोविड को देखते हुए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आधी क्षमता के साथ विद्यालय संचालन की अनुमति प्रदान की गई है। जिसे देखते हुए तीन-तीन दिन छात्रों की उपस्थिति के हिसाब से व्यवस्था बनाई गई है। इसके अलावा कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए मास्क की अनिवार्यता, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही सैनेटाइजर व अन्य सावधानियां बरतने के निर्देश जारी किए गए हैं। इसके अलावा अभिभावकों की सहमति भी अनिवार्य है।
विद्यालय में पहुंचे छह छात्र
सोमवार से प्राथमिक विद्यालय खोल दिए गए हैं। सोमवार को पहले दिन नगर के सब्जी मण्डी स्थित अर्बन बेसिक स्कूल में दर्ज लगभग 32 छात्रों में से महज छह छात्र ही विद्यालय पहुंचे हुए थे। जिनमें से जो छात्र मास्क नहीं लगाए थे उन्हे स्कूल प्रबंधन द्वारा मास्क प्रदान किया गया। साथ ही कम छात्र संख्या होने की वजह से सभी को सोशल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए एक स्थान पर बैठाकर शैक्षणिक कार्य कराया गया।
छात्रों के हाथो को कराया सैनेटाइज
नगर के सिंहपुर रोड स्थित प्राथमिक विद्यालय पटेल नगर में भी पूर्व से ही विद्यालय संचालन को लेकर तैयारी कर ली गई थी। यहां दर्ज 34 छात्रों में से पहले दिन 4-5 छात्रा ही स्कूल पहुंची हुई थी। जिनके विद्यालय पहुंचने के साथ ही स्कूल प्रबंधन द्वारा सभी का हाथ सैनेटाइज कराया गया। इसके बाद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उन्हे कक्षा में बैठाकर अध्यापन कार्य कराया गया।
अभी यह जा रही समस्या
स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा छोटे बच्चों के लिए विद्यालय प्रारंभ कर दिए गए हैं। बावजूद इसके अभी भी कई समस्याएं सामने आ रही है। जिसमें सबसे प्रमुख कोविड का खौफ है। संभावित तीसरी लहर को देखते हुए अभी भी अभिभावक छोटे बच्चों को विद्यालय भेजने से कतरा रहे हैं और स्कूल भेजने सहमति प्रदान नहीं कर रहे हैं। ग्रामीण अंचलो में अभी विद्यालय संचालन के संबंध में अभी भी जानकारी नहीं है। जिस वजह से वह अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज पाए।
कहां कितने प्राथमिक विद्यालय
विकासखंड विद्यालय
ब्यौहारी 341
बुढ़ार 350
गोहपारू 213
जैसिंहनगर 384
सोहागपुर 337
कुल 1325

Show More
shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned