मेडिकल कॉलेज में न्यूरोलॉजिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट और गैस्ट्रोलॉजिस्ट की मांग

कमिश्नर और डीन को सौंपा ज्ञापन

By: amaresh singh

Published: 30 Dec 2020, 08:43 PM IST

शहडोल। मेडिकल कॉलेज में न्यूरोलॉजिस्ट, कार्डियोलॉजिस्ट और गैस्ट्रोलॉजिस्ट की मांग को लेकर दिलीप लाहोरोनी मित्र मंडली ने कमिश्नर और मेडिकल कॉलेज के डीन को ज्ञापन सौंपा। दिए ज्ञापन में मांग करते हुए बताया कि संभाग पिछड़ा एवं आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र है। यहां की लोगों की मासिक आय भी सभी संभागों से बहुत कम है। यहां के मेडिकल कॉलेज में चार जिलों के मरीज इलाज के लिए निर्भर हैं जबकि मेडिकल कॉलेज में न्यूरो सर्जन, कार्डियोलॉजिस्ट और गैस्ट्रोलॉजिस्ट नहीं होने की वजह से लोगों को कम से कम 300 किमी की यात्रा करके जबलपुर या रायपुर जाना पड़ता है। इससे या तो मरीज रास्ते में दम तोड़ देता है या उसकी हालत गंभीर हो जाती है। जिला आदिवासी बाहुल्य है। एवं ज्यादतर गरीब है। वह बाहर के प्राइवेट डॉक्टरों की फीस वहन करने में असमर्थ हैं। मेडिकल कॉलेज में कक्षाएं भी नियमित रूप से संचालित होती है। जिसमें प्रोफेसर के रूप में न्यूरो सर्जन, कार्डियोलॉजिस्ट एवं गैस्ट्रोलॉजिस्ट भी छात्र हित में होना आवश्यक है। इसलिए उक्त स्थितियों को देखते हुए संभाग के लोगों के हित में न्यूरो सर्जन, कार्डियोलॉजिस्ट और गैस्ट्रोलॉजिस्ट की नियुक्ति जल्द से जल्द की जाए या प्रतिनियुक्ति पर मेडिकल कॉलेज लाया जाए। किशन सनपाल, प्रेम लाहोरोनी, चंदन बहरानी, अशोक लाहोरानी, दिलीप लाहोरानी, महेश फबयानी, राजा बसरानी, राजकुमार लाहोरानी आदि शामिल रहे।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned