सीनियर सिटीजन पहुंचे, पोर्टल ने दिया दगा, सिर्फ 85 को लगा टीका

पोर्टल नहीं होने से वरिष्ठ नागरिकों का पंजीयन नहीं हो सका

By: amaresh singh

Published: 02 Mar 2021, 12:28 PM IST

शहडोल. जिले में सोमवार से वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका के दूसरे चरण में कोरोना टीका का पहला डोज लगना शुरू हो गया है। पहले दिन जिले में 85 वरिष्ठ नागरिकों को ही कोरोना का टीका लगा। पोर्टल नहीं होने से वरिष्ठ नागरिकों का पंजीयन नहीं हो सका। इसकी वजह से पहले दिन लक्ष्य के अनुसार वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका नहीं लग पाया।
जिले में सोमवार को वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका लगाने के लिए तीन केन्द्र बनाए गए थे। इसमें जिला अस्पताल, मेडिकल कॉलेज और सिविल अस्पताल ब्यौहारी शामिल था। इसमें पहले दिन जिला अस्पताल में 324 वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था जबकि मेडिकल कॉलेज शहडोल में 325 और सिविल अस्पताल ब्यौहारी में 100 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य था।
अस्पताल में भीड़ बढ़ी तो बनाया दूसरा कक्ष
जिला अस्पताल में सुबह दस बजे से वरिष्ठ नागरिक कोरोना का टीका लगवाने पहुंचने लगे। इस दौरान उनका आधार कार्ड, आयु संबंधी प्रमाण पत्र देखकर ऑनस्पॉट पंजीयन किया गया। इसके बाद उनको कोरोना टीका लगाया जाना शुरू किया गया। सुबह के समय एक ही कक्ष में फ्रंट लाइन कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका लगाया जा रहा था लेकिन इसकी वजह से वरिष्ठ नागरिकों को लाइन में लगकर परेशान होना पड़ रहा था। इस पर उनके लिए दोपहर एक बजे से दूसरे कक्ष में कोरोना टीका लगवाने का काम शुरू किया गया। इस दौरान उनके पंजीयन के लिए भी अलग से स्वास्थ्य कर्मचारी बैठाया गया। जिला अस्पताल में भी पोर्टल बहुत धीरे-धीरे चल रहा था। इसकी वजह से जिला अस्पताल में 84 वरिष्ठ नागरिकों को कोरोना टीका का पहला डोज लगाया गया।


1189 कर्मचारियों को लगा दूसरा डोज
वहीं जिले में फ्रंट लाइन कर्मचारियों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोरोना टीका का दूसरा डोज लगाया गया। सोमवार को फ्रंट लाइन कर्मचारियों और स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोरोना टीका का दूसरा डोज लगाने के लिए 15 केन्द्र बनाए गए थे। इस दौरान 15 सौ कर्मचारियों को कोरोना टीका का दूसरा डोज लगाने का लक्ष्य बनाया गया था। इसमें से 1189 कर्मचारियों को कोरोना टीका का दूसरा डोज लगाया गया।
जिले में अब तक 31 सौ फ्रंट लाइन कर्मचारियों और स्वास्थ्य कर्मचारियेां को कोरोना टीका का दूसरा डोज लगाया जा चुका है।

मेडिकल कॉलेज में नहीं लगा टीका
सुबह नौ बजे से तीनों केन्द्रों पर स्वास्थ्य विभाग का अमला कोरोना टीका लगाने के लिए पहुंच गया था। इस दौरान सुबह दस बजे से जिला अस्पताल में कोरोना टीका लगना शुरू हो गया। जबकि मेडिकल कॉलेज में पोर्टल नहीं चलने से वरिष्ठ नागरिकों का पंजीयन नहीं हो पाया। इसकी वजह से मेडिकल कॉलेज में एक भी वरिष्ठ नागरिक को कोरोना टीका नहीं लग पाया। सिविल अस्पताल ब्यौहारी में भी पोर्टल नहीं चल रहा था। यहां पर काफी वरिष्ठ नागरिक टीका लगवाने पहुंचे थे लेकिन पोर्टल नहीं चलने से पंजीयन नहीं हो पाया। इसकी वजह से यहां पर मात्र एक वरिष्ठ नागरिक को कोरोना टीका लग पाया।
इनका कहना है
अपनी पत्नी के साथ कोरोना टीका लगवाया है। कोरोना टीका लगाते समय डर नहीं लग रहा है। पत्नी स्नोफीलिया की मरीज है इसलिए उसको संशय हो रहा था लेकिन टीका पूरी तरह से सुरक्षित है।
उमाकांत शर्मा, वरिष्ठ नागरिक
इनका कहना है
टीका लगाते समय बिलकुल डर नहीं लग रहा था। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने कोरोना टीका लगने के बारे में जानकारी दी। इस पर कोरोना टीका लगवाया। सबको कोरोना टीका लगवाना चाहिए। यह पूरी तरह से सुरक्षित है।
भगवानदीन वैश्य, वरिष्ठ नागरिक

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned