शहडोल को मिलेगी बीसीटी वैन, गांव-गांव लगा सकेंगे ब्लड डोनेशन कैंप

ग्रामीण क्षेत्रों और छोटी बसाहटों में आसानी से लगा सकेंगे शिविर

By: amaresh singh

Published: 22 Feb 2021, 11:35 AM IST

शहडोल. जिला अस्पतालों में ब्लड की कमी को दूर करने की दिशा में शासन ने नई पहल की है। प्रदेशभर के चुनिंदा जिलों में प्रथम चरण में बीसीटी वैन भेजी जा रही है। ये बीसीटी वैन कंपनी में तैयार हो गई है। सबकुछ सही रहा तो आने वाले एक माह के भीतर अस्पतालों में ये बीसीटी वैन भेज दी जाएगी। जिला अस्पताल में इन वैन के पहुंचने से कैम्प लगाकर ब्लड कलेक्ट किया जा सकेगा। स्वास्थ्य संचालक की ओर से जिलों को भेजे गए आदेश में एक महीने के भीतर बीसीटी वैन मुहैया कराने की बात कही गई है। सिविल सर्जन को इन वैन के माध्यम से कैम्प लगाकर ब्लड बैंक में रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित करना होगा। बीसीटी वैन के लिए ड्रायवर को 12 हजार रूपए प्रतिमाह और 10 हजार रूपए प्रतिमाह पर अटेंडर की व्यवस्था आउटसोर्स से की जाएगी। अभी तक ग्रामीण अंचलों में कैंप लगाने में असुविधा होती थी लेकिन इन बैन के आने के चलते आसानी से ग्रामीण अंचलों में भी लिए कैंप लगा सकेंगे।

डोनर काउच से लेकर रेफ्रिजरेटर भी रहेगा
अधिकारियों के अनुसार, बीसीटी वैन डोनर काउच, रेफ्रिरेटर सहित कई अन्य अत्याधुनिक संसाधनों से लैस रहेगी। इसके चलते बड़े शहरों ही नहीं बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों और छोटी बसाहटों में आसानी से इस वैन के माध्यम से रक्तदान शिविर लगाए जा सकेंगे। रक्तदान शिविर में कलेक्ट होने वाला ब्लड स्टोर करने के लिए भी रेफ्रिजरेटर की व्यवस्था की गई है।

संभाग में पहले चरण में शहडोल शामिल
प्रदेश के २४ जिलों में ये बीसीटी वैन भेजी जा रही हैं। जिसमें संभाग से सिर्फ शहडोल शामिल है। इसके अलावा आसपास के जिलों में सागर, सतना, शहडोल, जबलपुर, बालाघाट, छिंदवाडा में भेजी जा रही है।


बीसीटी वैन से संबंधित आदेश आया है। शासन की नई पहल है। रक्तदान शिविर में काफी मदद मिलेगी।
डॉ जीएस परिहार, सिविल सर्जन
जिला अस्पताल, शहडोल

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned