सरहंगों ने काट ली किसान की फसल, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

सरहंगों ने काट ली किसान की फसल, पुलिस ने नहीं की कार्रवाई
Sirhangs cut the crop of the farmer, police did not take action

Lav Kush Tiwari | Publish: Aug, 08 2019 12:35:55 PM (IST) Shahdol, Shahdol, Madhya Pradesh, India

त्वरित निराकरण करने के अधिकारियों को दिए निर्देश

शहडोल ग्राम खोडऱी थाना जैतपुर निवासी कृपाल पिता सम्हारू कोल ने कलेक्टर कार्यालय में आयोजित जनसुनवाई सीइओ जिला पंचायत पार्थ जयसवाल को शिकायत करते हुए बताया कि खसरा नम्बर 18/1 रबका 0809 हेक्टेयर में 4 दशक से खेती कराई जा रही है। वर्ष 2009 में उक्त जमीन का पट्टा मुझे अजीविका बसर के लिए शासन द्वारा दिया गया था। उसने बताया कि पिछले वर्ष मेरे खेत से धान की खड़ी फसल गांव के ही सुखलाल गोंड़ के लड़के हरी, महेश, चरकू, बहादुर और दलवीर पिता महेश गोंड़ द्वारा जबरन दबंगई करते हुए काट लिया गया था। उसने बताया कि मामले की शिकायत थाना जैतपुर में की गई, लेकिन आज तक कोई कार्रवाई दबंगों के विरुद्ध नहीं की गई। कार्यवाहीं नही होने से उनके द्वारा मुझे खेती करने से मना किया जा रहा है एवं खडी फसल कटाने की धमकी देते हैं। इस पर मामले में सीइओ ने एसडीएम जैतपुर को जांच कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसी तरह सुमित्रा पति कल्याण सिंह मार्को निवासी वार्ड नम्बर 28 के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की शिकयत बेला कोल ने शिकायत करते हुए बताया कि उनकी पुरानी बस्ती वार्ड नम्बर 28 स्थित मध्यप्रदेश शासन की भूमि खसरा क्रमांक 250 पर अपना कच्चा आवासीय घर बनाकर पुस्तैनी निवास कर रही है और उसके भूमि का पट्टा शासन द्वारा प्रदाय किया गया है। उसने बताया कि मेरे नाम से उक्त भूमि पर प्रधानमंत्री आवास अनुदान स्वीकृत हुआ है, लेकिल सुमित्रा पति कल्याण सिंह मार्को मुझे निर्माण नहीं कराने दे रहे और आदिवासी एक्ट में झूठा फंसाने की धमकी दे रहे है। इस मामले में सीइओ ने सीएमओ नगर पालिका शहडोल को जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned