scriptSuch an attachment to Hindi that the research center prepared at home, | हिन्दी से ऐसा लगाव कि घर में तैयार किया शोध केन्द्र, खुद के खर्च से शोधार्थियों को देते हैं सुविधाएं | Patrika News

हिन्दी से ऐसा लगाव कि घर में तैयार किया शोध केन्द्र, खुद के खर्च से शोधार्थियों को देते हैं सुविधाएं

4000 से ज्यादा रचनाओं का संग्रह, शोधार्थियों के आश्रय की भी बनाई व्यवस्था
गीत, गजल, दोहा-सोरठा, कविता आदि की प्रकाशित हो चुकी है 35 पुस्तकें
पूर्णेन्द्र शोध ग्रंथालय में जुड़े हैं बड़े-बड़े साहित्यकार, लेखक व कवि

शाहडोल

Updated: September 14, 2022 12:52:13 pm

शहडोल. हिन्दी साहित्य से लगाव व लेखन में रुचि के चलते साहित्यकार पूर्णेन्दु सिंह ने अपने घर पर ही ऐसी लाइब्रेरी तैयार कर ली जहां एक से एक मूर्धन्य लेखकों व कबियों की रचनाओं का संपर्ण संग्रह मौजूद है। इतना ही नहीं इस लाइब्रेरी में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि कोई हिन्दी साहित्य से लगाव रखता है और शोध करना चाहता है तो उसके लिए यहां नि:शुल्क रहने की भी समुचित व्यवस्था है। साहित्य प्रेमी यहां रहकर अपने शोध कार्य कर सकता है। पुलिस विभाग में नौकरी करते हुए पूर्णेन्दु सिंह ने लेखन का कार्य प्रारंभ कर दिया था। गजल, कबिता, गीत, सोरठा आदि की इनकी स्वयं की 45 से ज्यादा पुस्तकेें प्रकाशित हो चुकी है।

हिन्दी से ऐसा लगाव कि घर में तैयार किया शोध केन्द्र, खुद के खर्च से शोधार्थियों को देते हैं सुविधाएं
हिन्दी से ऐसा लगाव कि घर में तैयार किया शोध केन्द्र, खुद के खर्च से शोधार्थियों को देते हैं सुविधाएं

पढऩे-लिखने और शोध करने वालों को दी सौगात
पुलिस विभाग में लगभग 36 वर्ष तक सेवा देने के बाद लगभग 21 वर्ष पहले पूर्णेन्दु सिंह सेवानिवृत्त हुए। वर्ष 2001 से वह साहित्यकारों से जुड़कर गोष्ठी व अन्य माध्यमों से यहां गतिविधियां प्रारंभ कर दी। घर पर ही पूर्णेन्द्र शोध ग्रंथालय बनाया। जहां अब अलग-अलग रचनाकारों की संपूर्ण रचनाओं का लगभग 4000 से ज्यादा पुस्तकों का संग्रह मौजूद है। साहित्य रचना के साथ ही पूर्णेन्दु सिंह ने साहित्यिक संस्थाओं और साहित्यिक गतिविधियों के पोषक व संरक्षक के रूप में भी अपनी पहचान बनाई है। पूर्णेन्दु शोध संस्थान की स्थापना करके उन्होंने पढने, लिखने और शोध करने वालों के लिए एक अनूठी सौगात दी है। इनके शोघ संस्थान में सभी प्रमुख रचनाकारों का समग्र शामिल है। जहां लिखने, पढने या शोध करने वाला कोई भी व्यक्ति वहां जाकर रह सकता है। इसके साथ ही वह अपनी किताबों की बिक्री के सख्त खिलाफ हैं। प्रकाशक से पूरी किताबें अपने पास ही मंगा लेते हैं और पुस्तकालयों, विद्यालयों, छात्रों, शिक्षकों और पढने में रुचि रखने वालों को मुफ्त में वितरित करते हैं ।
बड़े-बड़े साहित्यकार जुड़े, होती हैं सभी गतिविधियां
पूर्णेन्द्र ग्रंथालय से स्थानीय साहित्यकारों के साथ ही दूर-दूर से बड़े-बड़े साहित्यकारों का यहां से जुड़ाव है। जिनमें डॉ श्याम कश्यप, उदय प्रकाश, सुरेन्द्र राजन, महेश कटारे सुगम, डॉ दिनेश कुशवाहा, राम संगत नवगीतकार, रामराव वामनकर, कुमार प्रसाद, मालिनी गौतम, नेहल शाह, डॉ जया मित्रा, विहार से सुजाता चौधरी सहित अन्य साहित्यकार यहां से जुड़े हुए है।
किया सम्मानित
विपुल लेखन व रचनाओं की बदौलत पूर्णेन्दु सिंह ने साहित्य के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उन्हे मध्यप्रदेश, राजस्थान और उत्तरप्रदेश की प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्थाओं ने विभिन्न सम्मानों से अलंकृत किया है। वर्ष 2022-23 में राष्ट्रीय स्तर के पुरस्कार की भी घोषणा की जा रही है। गीत व गजल, कहानी व गद्य विधा में राष्ट्रीय स्तर पर साहित्यकारों को सम्मानित किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

वायु सेना छोड़ राजनीति में आए झारखंड के पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी ने कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए भरा नामांकनलोन लेना हुआ महंगा, RBI ने लगातार चौथी बार 0.50 फीसदी बढ़ाया रेपो रेट, ज्यादा चुकाना होगी EMIअरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तारकांग्रेस आलाकमान ने दिखाए सख्त तेवर, गहलोत-पायलट खेमे को लेकर लिया ये बड़ा फैसलादिग्विजय नहीं भरेंगेे नामांकन, कांग्रेस अध्यक्ष पद की दावेदारी पर संशय बरकरारएक माह में ही काबुल में एक और भीषण आतंकी हमला, निशाने पर शिया-हजारा समुदाय, दो दर्जन से अधिक छात्रों की हत्यारेलवे ने शुरू की अच्छी सर्विस, अब ट्रेन में सोते समय नहीं छूटेगा आपका स्टेशन, जानिए कैसे मिलेगी जानकारीWeather Report: दिल्ली सहित इन राज्यों से विदा हुआ मानसून, जानिए इस वर्ष कितनी कम हुई बारिश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.