प्रदेश के चार जिलों में नक्सलियों के लिए बढ़ेगी चौकसी, पीएचक्यू से मांगी जाएगी फोर्स

एडीजीपी ने पुलिस अधिकारियों की ली बैठक

शहडोल। पुलिस रेंज शहडोल के लिए स्थानांतरित एडीजीपी जी जर्नादन शुक्रवार को शहडोल पहुंचे। यहां पर पद्भार संभालते हुए रेंज के सभी अधिकारियों की बैठक ली और पत्रकारों से रूबरू हुए। एडीजीपी जी जर्नादन ने एसपी और पुलिस अधिकारियों से पूछा कि काम करने मे कहां चुनौतियां आ रही हैं। इसके अलावा क्राइम रिकार्ड की समीक्षा की। उन्होने अधिकारियों को दो टूक कहा कि कोई भी आपराधिक गतिविधियां और अवैध कार्य रेंज में नहीं होने चाहिए। एडीजीपी ने कहा कि नक्सल संभावित क्षेत्रों में चौकसी बढ़ाने के साथ पुलिस बल बढ़ाने की मांग की जाएगी। इसके साथ ही मानव तस्करी और माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई होगी। एडीजीपी जी जनार्दन ने डीआइजी पीएस उइके शहडोल रेंज से शहडोल जोन का पदभार ग्रहण किया। इसके बाद एसपी अनिल सिंह कुशवाह, सचिन शर्मा, किरणलता केरकेट्टा, एमएल सोलंकी मौजूद रहे। मुख्य सतर्कता अधिकारी साउथ ईस्टर्न कोल फील्ड के पद पर पदस्थ रहते हुए शहडोल, उमरिया एवं अनूपपुर के मायनिंग एरिया से भी वाकिफ हैं। वर्तमान में निदेशक जवाहर लाल नेहरू पुलिस अकादमी सागर से स्थानांतरण पर आए हैं। जी जनार्दन को 2011 में भारत सरकार द्वारा सराहनीय कार्य के लिए राष्ट्रपति मेडल से सम्मानित किया जा चुका है। नक्सल विरोधी अभियान में पर आंतरिक सुरक्षा पदक, दुर्गम सेवा पदक दिया जा चुका है। जनार्दन संयुक्त राष्ट्र संघ अंतर्गत कोशावो, युगोस्लाविया में शांति सेना में सेवा दिए हैं। वहां भी संयुक्त राष्ट्र शांति सेना मेडल दिया था।

Show More
shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned