शिक्षित परिवार के हाथो में सौंपी थी बेटी, मेंहदी छूटने से पहले उठी अर्थी

मां ने कहा कुछ बताना चाहती थी, उसके पहले आई मौत की खबर, परिजनो ने कहा बेटी को मिले न्याय, दोषियों पर हो सख्त कार्रवाई

By: Hitendra Sharma

Published: 30 Dec 2020, 09:42 AM IST

शहडोल. हमने तो सोचा था शिक्षित परिवार है बेटी और दामाद दोनो साफ्ट वेयर इंजीनियर हैं साथ में नौकरी करेंगे और खुशहाल रहेगा। हमने तो अपनी तरफ से कोई कमी नहीं की थी क्या पता था कि बेटी के हाथो की मेंहदी भी नहीं छूटेगी और उसकी अर्थी उ्रठ जाएगी। यह दर्द है उस मां का जिसने 15 दिन पहले ही बेटी को डोली में बैठाया था और उसकी मौत पर आंसू बहा रही है।

शहडोल निवासी नीरज कटारे की 26 वर्षीय बेटी आरजू कटारे का 8 दिसम्बर को कानपुर के नौबस्ता केशवनगर निवासी अमनदीप गुप्ता के साथ हुई थी। जिसके लगभग 15 दिन बाद 25 दिसम्बर को आरजू की ससुराल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। ससुराल पक्ष आरजू की मौत का अलग-अलग कारण बता रहा है। वहीं पीएम रिपोर्ट में दम घुटने से मौत होने की पुष्टि हुई है। आरजू के परिजनों का आरोप है कि ससुराल पक्ष ने उनकी बेटी की हत्या की है। मामले में मृतिका के परिजनो ने बेटी को न्याय दिलाने व दोषियों पर सख्त कार्रवाई की गुहार लगाई है। पुलिस ने अमनदीप को हिरासत में लेते हुए सभी पहलुओं पर जांच में जुटी हुई है।

मां ने कहा कुछ बताना चाहती थी बेटी
मां अर्चना कटारे की माने तो शादी के कुछ दिन बाद से आरजू कुछ परेशान थी। फोन आता था तो वह कुछ बताना चाहती थी लेकिन उस वक्त कोई न कोई उसके पास मौजूद रहता था जिस वजह से वह कुछ बता नहीं पाती थी। घटना के दो तीन दिन पहले उसने बताया था कि ससुराल वाले ताने दे रहे हैं। अर्चना कटारे की माने तो उनकी बेटी काफी परेशान थी और वह कुछ बताना चाह रही थी लेकिन बता नहीं पा रही थी।

 

29sdl01-7.jpg

पल-पल बदल रहे बयान
आरजू की मां अर्चना की माने तो उन्हे यह बताया गया था कि बाथरूम में फिसलने की वजह से हेड इंजुरी हो गई थी जिस वजह से उसकी मौत हो गई। इसके बाद उनके अलग-अलग बयान सुनने मिले। वहीं आरजू के गले व दोनो हाथो में निशान थे। साथ ही पीएम रिपोर्ट में दम घुटने की बात सामने आने के बाद गीजर से गैस रिसाव की वजह से दम घुटने के कारण मौत होने की बात कही जाने लगी। परिजनो को जांच प्रभावित करने की भी आशंका है।

मृतिका की मां ने बताया कि जिस वक्त पुलिस अमनदीप को पकड़कर ले जा रही थी उस वक्त उसका कहना था कि जितना पैसा फेंक सकों फेंक दो ओर केस रफा-दफा करो। अर्चना कटारे ने कहा कि अब वह यही चाहती हैं कि उनकी बेटी को न्याय मिले और दोषियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई हो। यदि शादी के कुछ दिन बाद ही बेटियों की हत्या होती रही तो बेटियां शादी करने से डरने लगेंगी।

Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned