ट्रेकमैनों को रेल के दूसरे विभाग में मिलेगा प्रतिभा दिखाने का मौका

ट्रेकमैनों को रेल के दूसरे विभाग में मिलेगा प्रतिभा दिखाने का मौका

Shiv Mangal Singh | Publish: Sep, 11 2018 09:02:23 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

रेलवे के हर विभाग में दस फीसदी कोटा तय

शहडोल. रेलवे बोर्ड ने ट्रेकमैनों के लिए कायमाबी का रास्ता खोला है। इस राह पर चलकर मंजिल तक पहुंचने के लिए अब पढ़े-लिखे शिक्षित ट्रैकमेंटेनरों को रेलवे के अन्य दूसरे विभागों में अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर मिलेगा। इसके लिए रेलवे के हर विभाग में ट्रेकमैनों के लिए दस प्रतिशत कोटा रहेगा और उन्हे अपनी मेहनत से रेलवे के अन्य विभागों में काम करने का मौका मिलेगा। गौरतलब है कि रेलवे में सबसे ज्यादा शारीरिक श्रम ट्रेकमैनों द्वारा किया जाता है और इस पद पर कई पढ़े लिखे शिक्षित लोग भी रहते हैं। साथ कुछ लोग ऐसे भी होते है जिनसे ज्यादा मेहनत का काम नहीं हो पाता है। ऐसी दशा में रेलवे विभाग द्वारा उनके लिए वरदान स्वरूप दस प्रतिशत का कोटा निर्धारित किया गया है और ट्रेकमैनों की बरसों पुरानी मांग पर रेलवे बोर्ड ने मुहर लगा दी है। इसके तहत हर विभाग में उनके लिए 10 प्रतिशत कोटा रहेगा। जिसे विभागीय परीक्षा पास कर सफलता हासिल कर सकते हैं। बताया गया है कि ट्रैकमैन के पद पर कार्य करने वाले कर्मचारियों में बड़ी संख्या में ऐसे भी हैं, जो काफी पढ़े लिखे हैं। बेरोजगारी दूर करने के लिए इस काम को कर रहे हैं। इन्हें दूसरे विभागों में कामकाज करने का अवसर नहीं मिल पा रहा था। इस मांग को लेकर जोन रेल मंडल व ऑल इंडिया स्तर पर कई बार विरोध प्रदर्शन किया जा चुका हैं, लेकिन उनकी मांगें नहीं मानी जा रही थी। इसके बाद भी उन्होंने हार नहीं मानी और लगातार संघर्ष करते रहे। पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के चेयरमैन से ऑल इंडिया रेलवे ट्रैकमेंटेनर यूनियन के पदाधिकारियों ने उनसे मुलाकात की थी और अपनी सभी प्रमुख मांगों को दोबारा रखते हुए उन्हें पूरी करने की मांग की। इनमें एक मांग रेलवे के दूसरे विभागों में ट्रैकमेंटेनर के लिए कोटा निर्धारित करना था। जिस पर उन्हे बताया गया कि ग्रुप डी के लिए दूसरे विभागों में 10 प्रतिशत कोटा तय करने का फैसला ले लिया गया है। इस संबंध में जल्द ही सभी जोन कार्यालय को आदेश भी भेजा जाएगा। बताया गया है कि हार्ड ड्यूटी अलाउंस की सफलता के बाद एलडीसीई में ट्रैकमैन को 10 प्रतिशत कोटा देना एक बड़ी सफलता है।
इनका कहना है
ट्रैकमेनों को रेलवे अन्य विभागों में दस प्रतिशत का कोटा निर्धारित किया गया है। जिसके तहत शिक्षित व हार्ड वर्क न कर पाने वाले ट्रेकमैनों को अपनी प्रतिभा दिखाने का एक बेहतर मौका मिलेगा।
अम्बिकेश साहू
पीआरओ, दपूमरे, बिलासपुर जोन

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned