रातभर गांव में दबिश देती रही पुलिस, सुबह खुदवाया गड्ढा, चार दिन पुराना शव निकाला

करंट की चपेट में आए ग्रामीण से पूछताछ करने पर उगला सुराग
करंट से युवक की मौत के बाद साक्ष्य छिपाने दफना दिया था शव

By: Ramashankar mishra

Published: 11 Jan 2021, 12:40 PM IST

शहडोल. शिकार के लिए फैलाए करंट की चपेट में आने से युवक की मौत के बाद शिकारी ग्रामीणों ने साक्ष्य छिपाने के लिए शव को दफना दिया था। चार दिन से ज्यादा समय बीतने के बाद भी युवक का सुराग नहीं मिला। बाद में करंट की चपेट में आए एक और ग्रामीण युवक से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पूरा मामला उजागर हुआ। पुलिस रातभर गांव में दबिश देकर आरोपियों से पूछताछ करती रही और घटनास्थल पर पहुंची। दूसरे दिन सुबह रविवार को अधिकारियों की टीम ने कब्र खुदवाकर शव को बाहर निकाला। मामला सिटी कोतवाली अंतर्गत कोलुहा नाला के नजदीक का है। पुलिस के अनुसार, गांव में जंगली जानवरों के शिकार के लिए ग्रामीणों ने करंट फैलाया था। इस दौरान बाजार से लौटते वक्त राकेश बैगा करंट की चपेट में आ गया था। कुछ ही समय में राकेश की मौत हो गई थी।
इस दौरान बचाव करने पहुंचे ग्रामीण प्रेम लाल भी झुलस गया था। ग्रामीणों ने शव छिपाने के लिए गड्ढा खोदकर दफन कर दिया था। बाद में युवक का सुराग नहीं मिला तो तलाश की गई लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। बाद में प्रेमलाल से पूछताछ की गई। जिसके बाद पूरा मामला सामने आया। रविवार को शव को बाहर निकालकर पीएम के लिए भेजा है। आरोपी हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।
ग्रामीणों को पता था शिकार के लिए फैलाते हैं करंट
ग्रामीण प्रेमलाल भी करंट की चपेट में आ गया था। उधर राकेश के अचानक लापता होने के बाद ग्रामीणों को संदेह हुआ तो पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने गंभीरता के साथ प्रेमलाल से पूछताछ की। जिसके बाद आरोपी प्रेमलाल ने पूरी कहानी उजागर की। पुलिस आरोपियों को हिरासत में लेकर सुराग जुटा रही है।

Show More
Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned