एक ही सड़क को कई बार बनाया, पानी में बहाया जनता का पैसा

खर्च कर दिए १७ करोड़, लेकिन सड़क चलने लायक भी नहीं

By: Shahdol online

Published: 22 Aug 2017, 06:27 PM IST

शहडोल. ठेकेदारों और नगरपालिका अमले के लिए 'दुधारू' बनीं सड़कें शहर की जनता को अब बहुत दर्द दे रहीं हैं। नगरपालिका परिषद ने पांच साल के दौरान दर्जनों ऐसी सड़कें बनाई हैं, जो गुणवत्ता और तकनीकी खराबी के चलते कुछ ही दिनों में दम तोड़ चुकी हैं। एक साल के दौरान नगरपालिका ने नगर की अंदरुनी सड़कों सहित प्रमुख सड़कों की मरम्मत और निर्माण पर लगभग १७ करोड़ रुपए पानी की तरह बहाए हैं।
बावजूद इसके नगर की सड़कें बदहाल हैं, इन सड़कों पर चलना मुश्किल है। नगर पालिका ने एक ही सड़क को कई बार बनवाया है, हद तो तब हो गई है जब पहले सीसी रोड बनवाया, उसके बाद उसका डामरीकरण भी करा दिया।
सड़क नम्बर- एक
रेलवे फाटक से पंचगांव रोड -
नगर की पुरानी बस्ती रेलवे फाटक, दुर्गामंदिर रोड से पंचगांव श्मशानघाट पुलिया के पास तक एक साल पहले लगभग १ करोड़ की लागत से सीसी रोड का निर्माण कराया गया, इसके बाद सड़क तीन महीने के भीतर ही उखड़ गई तब नपा ने उसी सड़क के ऊपर लगभग ५० लाख रुपए से अधिक खर्च कर डामरीकरण कार्य करा दिया।

सड़क नम्बर-दो
इंदिरा चौक से नया बस स्टैंड-
नगर के इंदिरा चौक से नया बस स्टैंड तक २७ लाख रुपए से बनाई गई सड़क एक साल के दौरान क्षतिग्रस्त हो गई। इसके पहले नगर पालिका ने तीन बार सीसी रोड और दो बार डामरीकरण का कार्य कराया लेकिन गुणवत्ता और तकनीकी खराबी के कारण सड़क क्षतिग्रस्त हो गई।

सड़क नम्बर-तीन
पाण्डवनगर और बुढ़ार रोड मॉडल सड़क-
लगभग १२ करोड़ रुपए की लागत से बुढ़ार चौक से बाईपास और राजेन्द्र टॉकीज से इंदिरा कन्या कॉलेज तक बनाई गई सड़क तकनीकी खराबी और गुणवत्ता के अभाव के कारण जगह-जगह उखड़ गई है, जिससे लोग परेशान हो रहे हैं।

सड़क नम्बर-चार
बुढ़ार रोड़ से सिंहपुर पोण्डानाला रोड-
६ करोड़ की लागत से नगर के बुढ़ार रोड़ से सिंहपुर पोंडा नाला रोड़ तक सीसी रोड़ के ऊपर नपा ने डामरीकरण का कार्य कराया, जबकि उक्त सीसी सड़क का निर्माण कार्य तीन साल पहले कराया गया था, लेकिन सड़क क्षतिग्रस्त होने के कारण नपा ने उसमें डमरीकरण कार्य करा दिया।

सड़क नम्बर -पांच
बर्फ फैक्ट्री से गणेश मंदिर रोड-
लगभग २५ लाख रुपए की लागत से ६ महीने पहले बनाई गई गणेश मंदिर से बर्फ फैक्ट्री और नरसरहा तक बनाई गई डामरीकरण सड़क पहली ही बारिश में जगह- जगह क्षतिग्रस्त हो गई जिसमें वाहन चालकों को चलना आसान नहीं है।

सड़क नम्बर-छ:
एफसीआई गोदाम से पोल फैक्ट्री
लगभग २४ लाख रुपए की लागत से तीन महीने पहले नगर के एफसीआई गोदाम से पोल फैक्ट्री तक बनाई गई सड़क तकनीकी खराबी और गुणवत्ता के अभाव के कारण सड़क पर जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं।

"सुधारने के लिए दिए नोटिस"
नगर में बनाई गई गुणवत्ताहीन सड़कों को लेकर सम्बन्धित ठेकेदारों को नाटिस जारी किए गए हैं। अगर सुधार कार्य ठेकेदारों द्वारा नहीं किया गया तो अमानत राशि जब्त करते हुए उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
ब्रूजेन्द्र वर्मा
सहायक यंत्री
नपा- शहडोल

Shahdol online
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned