क्लिनिक में हो रहा था गलत काम, टीम की दबिश, इजेक्शन दवाइयां जब्त

shubham singh

Publish: Jul, 13 2018 10:24:16 PM (IST)

Shahdol, Madhya Pradesh, India
क्लिनिक में हो रहा था गलत काम, टीम की दबिश, इजेक्शन दवाइयां जब्त

17 तरह के इंजेक्शन और 15 सीरप जब्त

शहडोल। शहर के सोहागपुर गढ़ी में झोलाछाप डॉक्टर दशकों से ग्रामीणों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा था। लगातार मिल रही शिकायतों के बाद दो बीएमओ और रोगोपचार प्रभारी की संयुक्त टीम ने दबिश दी। यहां पर टीम ने मरीजों का इलाज करते हुए झोलाछाप डॉक्टर के क्लीनिक में कार्रवाई की है। बीएमओ ब्यौहारी डॉ राजेश मिश्रा, बीएमओ बुढ़ार डॉ सचिन कारखुर और रोगोपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव ने क्लीनिक में दबिश दी। रोगोपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव के अनुसार क्लीनिक संचालक विनय कुमार भट्ट बिना लाइसेंस और डिग्री के मरीजों का इलाज कर रहा था। इस दौरान टीम ने 90 तरह की दवाईयां जब्त की हैं। इसके अलावा 17 तरह की इंजेक्शन और 15 तरह का सीरप जब्त किया है। स्वास्थ्य विभाग की टीम की कार्रवाई के दौरान कई मरीजों का इलाज कर रहा था और कुछ मरीजों को भर्ती करके रखा था। स्वास्थ्य विभाग ने प्रकरण बनाते हुए कार्रवाई के लिए पुलिस को भेजा है।
२० साल से चला रहा था क्लीनिक
आश्चर्य की बात तो यह है कि क्लीनिक संचालक विनय कुमार भट्ट पिछले २० साल से फर्जी तरीके से शहर के बीच क्लीनिक संचालित कर रहा था लेकिन अफसरों को भनक नहीं थी। कार्रवाई की भनक लगते ही संचालक क्लीनिक बंद कर भाग निकलता था। शुक्रवार को टीम ने औचक दबिश देकर कार्रवाई की है।


नेशनल लोक अदालत का आयोजन आज, मामलों का होगा निराकरण
शहडोल राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार संपूर्ण प्रदेश में 14 जुलाई को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। इसी अनुक्रम में जिला न्यायालय शहडोल एवं तहसील न्यायालयों ब्यौहारी, जयसिंहनगर एवं बुढ़ार में भी जिला एवं सत्र न्यायाधीश, अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शहडोल आरके सिंह के निर्देशन में 14 जुलाई को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया जा रहा है। उक्त लोक अदालत में न्यायालय के लंबित प्रकरण क्रमश: आपराधिक प्रकरण 775, एनआईएक्ट के 318 प्रकरण, मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण के 207, विद्युत अधिनियम के 78, पारिवारिक प्रकरण 168, शिविल प्रकरण 84 एवं अन्य प्रकरण 49 कुल 1679 प्रकरणों को लोक अदालत हेतु रेफर्ड किया गया है। साथ ही प्रिलिटिगेशन प्रकरण जिसमें बैॅंक रिकवरी के 1150, विद्युत चोरी के 750, वाटर बिल के 550 एवं बीएसएनएल के 150 कुल 2600 को रेफर्ड किया गया है।

 

Ad Block is Banned