12 मार्च को ग्राम पंचायतों में होगा बड़ा बदलाव

पंचायत चुनाव के पहले प्रशासक करेंगे जनता का काम, 12 मार्च को समाप्त होगा जिला, जनपद व ग्राम पंचायतों का कार्यकाल, जनपद में सीईओ और पंचायतों में पीसीओ को दी जाएगी जिम्मेदारी

By: brijesh sirmour

Published: 07 Mar 2020, 07:15 AM IST

शहडोल. जिले के जिला, जनपद और ग्राम पंचायतों के जनप्रतिनिधियों का कार्यकाल आगामी 12 मार्च को समाप्त हो जाएगा और पंचायत चुनाव के पहले अब प्रशासक जनता का काम करेंगे, क्योंकि वहां के निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की जगह अब प्रशासक नियुक्त करने की तैयारी की गई है। जिले की 394 ग्राम पंचायतों के सरपंचों कार्यकाल आगामी 12 मार्च को समाप्त हो रहा है। इसके बाद वहां एडीओ व पीसीओ की प्रशासकों के रूप में नियुक्ति की जाएगी। जिले मेें बुढ़ार, सोहागपुर, गोहपारू, जयसिंहनगर और ब्यौहारी जनपद पंचायतें हैं। बताया गया है कि जिला और जनपद पंचायतोंं मेें जनप्रतिनिधियों का आरहरण व संवितरण कार्य में कोई रोल नहीं होने की वजह से वहां मुख्य कार्यपालन अधिकारी ही प्रशासक का कार्य करेंगे। जबकि ग्राम पंचायतों मेंं सरपंच व सचिव के पास आहरण व संवितरण कार्य में संयुक्त हस्ताक्षर होते थे, इसलिए वहां अब सरपंच का दायित्व समाप्त होने के बाद एडीओ व पीसीओ उनके कार्यों को संपांदित करेंगे।
जून में हो सकते है पंचायत चुनाव
जानकारों की माने तो मप्र राज्य निर्वाचन आयोग फिलहाल फोटोयुक्त मतदाता सूची का पुनरीक्षण कर रहा है और मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 26 मई को किया जाएगा, इसलिए जून से पहले चुनाव करवाए जाने की संभावना नहीं दिख रही है और चुनाव में देरी के चलते ग्राम, जनपद और जिला पंचायत में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग ने प्रशासक बैठाने की तैयारी की है। 12 मार्च को इनका कार्यकाल पूरा होगा और 13 मार्च को प्रशासकों की नियुक्ति हो जाएगी। फिर प्रशासक चुनाव के पहले जनता के कामकाज करेंगे। इसके बाद चुनाव करवाए जाएंगे।
अधूरे कार्यों को पूर्ण करने की रहेगी चुनौती
जानकारों की माने तो 12 मार्च के बाद नियुक्त प्रशासकों के समक्ष ग्राम, जनपद व जिला पंचायतों में अधूरे पड़े निमार्ण कार्यों को चुनाव के पहले पूर्ण कराने की चुनौती रहेगी। जानकारों की माने तो अधिकांश ग्राम पंचायतों में बजट के अभाव में दो-चार कार्य अधूरे पड़े हैं। जिन्हे पूर्ण कराया जाना जरूरी रहेगा। इसके अलावा नए कार्य भी स्वीकृत नहीं किए जाएगें और सरपंच व सचिव के राशि आहरण पर विशेष नजर रहेगी।

जिले में पंचायतों की संख्या
ग्राम पंचायत 394
जनपद पंचायत 05
जिला पंचायत 01
एडीओ 10-15
पीसीओ 30-40

जनपद पंचायतों में ग्राम पंचायतें
जनपद ग्रा.पं. नि.क्षे.
सोहागपुर 77 25
गोहपारू 58 19 बुढ़ार 102 25
ब्योहारी 70 25
जयसिंहनगर 87 25

अधूरे है यह प्रमुख निर्माण कार्य
कार्य स्थल स्वीकृत लागत कारण
खेल मैदान भठिया 2015-16 79लाख 50 लाख में नहीं बना पाना
खेल मैदान बनसुकली 2015-16 79लाख 50 लाख में नहीं बना पाना
खेल मैदान खुशरवाह 2017-18 79लाख 50 लाख में नहीं बना पाना
पंचा. भवन धनौरा 2017-18 12.85लाख राशि का अभाव
पंचा. भवन अंकुरी 2017-18 12.85लाख राशि का अभाव
पुलिया उचेहरा 2018-19 15लाख आधी राशि का आवंटन

इनका कहना है
12 मार्च को पंचायतों का कार्यकाल खत्म हो रहा है। इसके पहले प्रशासकों की नियुक्ति कर दी जाएगी। इसके लिए जनपद पंचायतों से प्रस्ताव बुलाए गए हैं। ग्राम पंचायत स्तर पर एडीओ व पीसीओ को प्रशासक बनाया जाएगा।
दिवाकर मिश्रा, प्रभारी अधिकारी, जिला पंचायत प्रकोष्ठ, शहडोल

्रपंचायतों में प्रशासक नियुक्त करने के अभी कोई आदेश नहीं आए है। आगामी 12 मार्च को पंचायतों का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। आदेश मिलने पर शीघ्र ही अग्रिम कार्रवाई की जाएगी।
पार्थ जायसवाल, सीईओ, जिला पंचायत, शहडोल

Show More
brijesh sirmour
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned