scriptThis department of Madhya Pradesh will become paperless to save greene | मध्यप्रदेश का यह विभाग हरियाली बचाने हो जाएगा पेपरलेस, लाखों उपभोक्ताओं के मोबाइल पर आएगा एसएमएस | Patrika News

मध्यप्रदेश का यह विभाग हरियाली बचाने हो जाएगा पेपरलेस, लाखों उपभोक्ताओं के मोबाइल पर आएगा एसएमएस

डिजिटल की दुनिया में कागजों का उपायोग कम

 

शाहडोल

Published: June 25, 2022 01:01:31 pm

शहडोल. विद्युत वितरण कंपनी पेपरलेस काम करने जा रही है। जिसके लिए कंपनी ने अब विद्युत उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर बिल में अपडेट करने का कार्य शुरू कर दिया है। जिन उपभोक्ताओं का मोबाइल नंबर बिल में
जनरेट है उनको एसएमएस के माध्यम से बिजली बिल भेजा जा रहा है।
बजली वितरण कंपनी प्रदेश में पहली ऐसी वितरण कंपनी होगी जो कागज पर बिजली बिलों को देने की व्यवस्था को पूरी तरह जुलाई माह से बंद करने जा रही है। पर्यावरण संरक्षण के लिए व हरियाली को बनाए रखने के लिए कागज का उपयोग कम करने के लिए कंपनी ने यह कदम उठाया है। हर महीने 2 लाख 33 हजार से अधिक बिल घरों तक पहुंचाए जाते हैं। जिससे मीटर रीडर को महीने में दो बार एक उपभोक्ता के घर जाना पड़ता है। पेपरलेस हो जाने से मीटर रीडर को अब सिर्फ रीडिंग लेने ही उपभोक्ताओं के घर जा सकेगें। कंपनी 8 से 10 दिन पहले बिल डिजिटल माध्यम से भेजे जाने के साथ ही रिमाइंडर भी भेजे जाएंगे। साथ ही बिल जमा होते ही मोबाइल पर मैसेज भी आ जाएगा जिससे उपभोक्ताओं के पास इसका रिकॉर्ड भी रहेगा।
जून से पूरी तरह बंद हो जाएगा डिजिटल
जुलाई माह से पूरी तरह उपभोक्ताओं को दिए जाने वाला कागजों का बिल बंद कर दिया जाएगा। जिसके लिए विभाग उपभोक्ताओं का मोबाइल नंबर व ई-मेल आईडी को बिल में अपडेट कर रही है। शहरी क्षेत्रों में अधिकांश उपभोक्ताओं का मोबाइल नंबर बिल में अपडेट है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों के उपभोक्ताओं का मोबइल नंबर अपडेट न होने के कारण समय पर समय पर बिल की जानकारी नहीं हो पाती है। जिसको लेकर विभाग मीटर रीडर व एटीबीपी मशीन के माध्यम से जनरेट करा रही है।
स्मार्ट बजली एप है कारगर
उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए वितरण कंपनी ने स्मार्ट बिजली एप लांच किया है। एप को उभोक्ता मोबाइल में डाउनलोड कर अपने मीटर की रीडिंग सबमिट कर सकते है। जिससे मीटर रीडिंग जनरेट होते ही प्रतिमाह बिल का पीडीएफ डाउनलोड किया जा सकता है। वहीं एप के माध्यम से बिल का भुगतान भी किया जा सकता है। समस्या होने पर एप के माध्यम से शिकायत भी उपभोक्ता दर्ज करा सकते है । विद्युत वितरण कंपनी ने पर्यावरण को बचाने व हरियाली बनाए रखने के लिए यह कदम उठाया है। बताया गया है कि कागजों के लिए पेड़ो की कटाई की जाती है। जिससे पर्यावरण का संतुलन बिगड़ रहा है । वहीं हरियाली भी धीरे-धीरे समाप्त हो रही है। डिजिटल की दुनिया में कागजों के काम को काफी हद तक कम किया जा सकता है। जिससे देश में हरियाली बनी रहे।
इनका कहना है
अगले माह से बिजली का बिल पेपरलेस हो जाएगा। अब मोबाइल में एसएमएस के माध्यम से उपभोक्ताओं को बिल दिया जाएगा। रीडिंग के लिए मीटर वाचक घरों पर जाकर रीडिंग लेंगे।
आरसी पटेल, कार्यपालन अभियंता
smart_meter.jpg

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कलकत्ता हाईकोर्ट की कड़ी टिप्पणी, कहा - 'पश्चिम बंगाल में बिना पैसे दिए नहीं मिलती सरकारी नौकरी'Jammu-Kashmir News: शोपियां में फिर आतंकी हमला, CRPF के बंकर पर ग्रेनेड अटैकओडिशा के 10 जिलों में बाढ़ जैसे हालात, ODRAF और NDRF की टीमों को किया गया तैनातकैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरशिमला में सेवाओं की पहली 'गारंटी' देने पहुंचेगी AAP, भगवंत मान और मनीष सिसोदिया कल हिमाचल प्रदेश के दौरे परममता बनर्जी के ट्विटर प्रोफाइल में गायब जवाहर लाल नेहरू की तस्वीर, बरसी कांग्रेसमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारकेंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के मानहानि के बयान पर मंत्री जोशी का पलटवार, कहा-दम है तो करें मानहानि
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.