सवा सौ करोड़ के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के साथ ट्रेंचिंग ग्राउंड भी अटका

नगर पालिका के जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के ढुलमुल रवैये से अधर में लटके कई प्रोजेक्ट

By: amaresh singh

Published: 22 Jul 2021, 11:28 AM IST

शहडोल. नगर को विकास की मुख्यधारा से जोडऩे के लिए नई कार्ययोजना बनती है। इन कार्ययोजनाओं पर अमल कितना होता है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि नगर में चार बड़े प्रोजेक्ट को लेकर पिछले दो-तीन वर्ष से कार्ययोजना बन रही है। अभी भी यह अधर में लटके हुए हैं। पिछला एक वर्ष कोरोना के साये में बीत गया और इससे पहले कहीं बजट का रोना तो कहीं जमीन न मिल पाने की वजह से काम अधर में लटके रहे। अब जब कुछ राहत मिली है तो टेण्डर प्रक्रिया और सर्वे व कार्ययोजना तैयार करने में नगर पालिका उलझा हुआ है। ऐसे में नगर विकास की रफ्तार पर ब्रेक लगा हुआ है। वार्डों में नाली और छुट-पुट सड़क निर्माण के अलावा पिछले चार वर्ष में किसी भी बड़े प्रोजेक्ट पर कार्य प्रारंभ नहीं हो पाया। जिसका खामियाजा नगर वासियों को भुगतना पड़ रहा है।

जमीन मिली तो संक्रमण ने घेरा
नगर के अलग-अलग वार्डों से निकलने वाले कचरे के समुचित निष्पादन के लिए ट्रेंचिंग ग्राउंड बनाने कार्ययोजना बनाई गई थी। जहां नगर से उठने वाले कचरे को अलग-अलग कर उसका सदुपयोग किया जाना था। ट्रचिंग ग्राउण्ड के निर्माण को लेकर पहले जमुई में जगह का निर्धारण किया गया और ट्रंचिंग ग्राउण्ड बनाने प्रक्रिया प्रारंभ की गई। इस बीच पर्याप्त जगह न होने का हवाला देकर प्रक्रिया को बीच में ही रोक दिया गया। इसके बाद 2020 में कुदरी में ट्रेंचिंग ग्राउंड के लिए जमीन चिन्हित की गई है। जहां लगभग 1 करोड़ 10 लाख से बाउण्ड्रीवाल, एमआरएफ सेंटर सहित अन्य कार्य कराए जाने हैं। जिसे लेकर अभी टेण्डर प्रक्रिया की गई है लेकिन अभी तक टेण्डर नहीं खुले हैं।

सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के लिए और इंतजार
नगर वासियों को लंबे अर्से से सीवर ट्रीटमेंट प्लांट का इंतजार है। लगभग सवा सौ करोड़ के इस प्रोजेक्ट को लेकर आवश्यक प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई है लेकिन अभी तक इसका कार्य प्रारंभ नहीं हो पाया। बताया जा रहा है कि सीवर ट्रीटमेंट प्लांट को लेकर पिछले तीन वर्ष से अधिक समय से कार्ययोजना बनाई जा रही है। जिसमें मुडऩा में ट्रीटमेंट प्लांट बनाया जाना है। साथ ही नगर के मुख्य मार्गो में पाईप लाइन बिछाकर उससे अलग-अलग वार्डों की पाईप लाइन जोड़कर निकलने वाले पानी को मुडऩा स्थित ट्रीटमेंट प्लांट में एकत्रित किया जाना है।

अभी शुरू नहीं हुआ काम
नगर के सिंहपुर रोड स्थित गणेश मंदिर से बगिया होटल के बीच सड़क निर्माण को लेकर लंबे अर्से से वार्डवासी लड़ाई लड़ रहे हैं। यहां तक कि सडक के लिए स्कूली छात्र भी सड़क पर बैठ गए। जिसके बाद भी उक्त सड़क निर्माण कार्य में नपा का अमला लेट-लतीफी से पीछे नहीं हट रहा है। उक्त मार्ग पूरी तरह से जर्जर है बरसात के इन दिनो में स्थिति और भी खराब हो गई है। उक्त सड़क का लगभग 95 लाख से निर्माण कराया जाना है। जिसे लेकर टेण्डर प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है। लेकिन अभी तक इसका निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो पाया। बरसात की वजह से अभी कार्य प्रारंभ होता भी नजर नहीं आ रहा है। कार्ययोजना तक सिमटी रिंग रोड बस स्टैण्ड से लल्लू चौक तक रिंग रोड निर्माण को लेकर पिछले दो वर्ष से कार्ययोजना बनाई जा रही है। इस कार्य के प्रारंभ होने तक दूर-दूर तक संभावनाएं नजर नहीं आ रही है। कार्य को लेकर बहरहाल कार्ययोजना ही बनाई गई है। अभी उस पर अमल नहीं हुआ है।

कोरोना संक्रमण की वजह से कार्य रुके हुए थे। जल्द ही सीवर ट्रीटमेंट प्लांट सहित अन्य कार्य प्रारंभ होंगे। प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है।
अमित तिवारी, सीएमओ नगर पालिका शहडोल

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned