सौ साल से काबिज आदिवासियों को नहीं मिला जमीन का पट्टा

सौ साल से काबिज आदिवासियों को नहीं मिला जमीन का पट्टा

shivmangal singh | Publish: Sep, 12 2018 08:12:48 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

जनसुनवाई में जिले भर से आई समस्याएं

शहडोल. जनसुनवाई में मंगलवार को शहर सहित आसपास के कई गांवों के लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र की समस्याओं के निराकरण के लिए आवेदन दिया। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एस कृष्ण चैतन्य ने जिला प्रमुख अधिकारियों के साथ कलेक्टर सभागार में जिले भर से आये आवेदकों की समस्याएं सुनी। नगर के वार्ड क्रमांक एक कोनी के कई आदिवासियों ने नपा उपाध्यक्ष कुलदीप निगम, पार्षद लल्ला कोल, जितेन्द्र सिंह, नीरज द्विवेदी, ओमप्रकाश पाण्डेय व दिलीप सराफ के नेतृत्व में एसडीएम सोहागपुर के नाम एक ज्ञापन सौंपा। वार्ड के पीडि़तों ने बताया कि वह पीढ़ी दर पीढ़ी पिछले सौ सालों से कोनी की जमीन पर अपना आशियाना बना कर रह रहे हैं, मगर उन्हे आज तक जमीन का पट्टा नहीं दिया गया है। ज्ञापन में वार्ड के करीब 141 आदिवासियों के हस्ताक्षर कर मांग की है कि कोनी टोला सोहागपुर के आदिवासी बस्ती में मकान बना कर रह रहे आदिवासियों का सर्वे करा कर उन्हे शीघ्र पट्टा प्रदान किया जाए। इसके लिए उन्होने आवश्यक दस्तावेज भी दिए हैं।

सचिवों ने की सांतवें वेतनमान की मांग
मप्र पंचायत सचिव संगठन के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को जनसुनवाई में तेरह सूत्रीय मांगो का ज्ञापन सौंप कर मुख्यमंत्री से पंचायत सचिवों को अध्यापक एवं अन्य कर्मचारियों के समान सातवां वेतनमान का लाभ दिए जाने की मांग की है। ज्ञापन सौंपते समय संगठन के जिलाध्यक्ष बाल्मिक त्रिपाठी, योगेश गर्ग, कमलेश मिश्रा, ददन सिंह, मंगलेश्वर सिंह, उपेन्द्र सिंह, रितु मौर्य, प्रदीप ङ्क्षसह, राकेश त्रिपाठी, हरीश शर्मा, रामानुज त्रिपाठी और भइयालाल नापित सहित अन्य कई लोग मौजूद रहे।

बैगा महिलाओं को नहीं मिली राशि
गोहपारू जनपद क्षेत्र के ग्राम पलसउ और जयसिंहनगर के ग्राम बतौड़ी की सैकड़ों महिलाओं को बैगा परिवार के भरण पोषण की राशि एक-एक हजार रुपए नहीं दिए गए है। महिलाओं ने बताया है कि उनका सर्वे भी किया जा चुका है, मगर वह योजना के लाभ से वंचित है। जबकि आसपास के कई गांवों की महिलाओं को पिछले आठ महीने से राशि दी जा रही है।

स्व-सहायता समूहों के जांच की मांग
ग्राम पंचायत धनपुरा के बजरंग स्व-सहायता समूह की अध्यक्ष संगीता व सचिव नीता ने जनसुनवाई में एमडीएम बनाने वाले बजरंग, नर्मदा व महिला स्व सहायता समूह की विधिवत जांच कराने की मांग की है। पत्र मे बताया गया है कि कुछ समूह फर्जी तरीके से एमडीएम का निर्माण कर शासन को गुमराह कर रहे हैं। इसलिए जांच कार्रवाई से सच व झूठ सामने आ जाएगा।

खांड नप अध्यक्ष व सीएमओ पर लगाया झूठे प्रकरण में फंसाने का आरोप
मानवाधिकार संगठन ब्यौहारी के ब्लाक अध्यक्ष दीपनारायण लखेरा ने पुलिस अधीक्षक की जनसुनवाई में एक लिखित आवेदन देकर खांड नगरपंचायत के अध्यक्ष व सीएमओ पर झूठे मुकदमे में फसा देने का आरोप लगाया है। उन्होने मांग की है कि उसके मामले की जांच कराकर झूठी शिकायत करने वाले के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Ad Block is Banned