दो दिन की बेमौसम बारिश ने बिगाड़ दी विद्युत व्यवस्था

दो दिन की बेमौसम बारिश ने बिगाड़ दी विद्युत व्यवस्था

Murari Soni | Publish: Feb, 15 2018 06:04:02 AM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

संभागीय मुख्यालय में भी 4-4 घंटे तक गुल रही बिजली

शहडोल। सोमवार से जारी बिगड़ेल मौसम ने विद्युत व्यवस्था को भी अस्त-व्यस्त कर दिया। हालात यह बने कि संभागीय मुख्यालय में भी चार-चार घंटे तक बिजली गुल रही। आंधी से पेड़ गिरने, लाइनों के क्षतिग्रस्त हो जाने के कारण आधा सैकड़ा गांवों में अंधेरा छाया रहा। अनूपपुर स्थित चचाई केंद्र में इंस्यूलेटर बस्ट हो जाने के कारण अनूपपुर व शहडोल जिले के गांवों में १२ घंटों तक बिजली व्यवस्था चौपट रही। हालाकि हालात बिगड़ते देख विद्युत विभाग हरकत में आया और आनन-फानन में लाइन मेनों को फील्ड पर भेजा गया। दो दिनों की मशक्त के बाद हालात काबू में आए।
इंस्यूलेटर जलने व पेड़ गिरने से शहरवासी रहे अंधेरे में
सोमवार और मंगलवार को शहडोल शहर में लोग ट्रिप मारती बिजली से परेशान रहे। सोमवार की दोपहर १२ बजे से बिजली की आंख मिचौली शुरु हो गई। दोपहर १२ बजे नगर पालिका कार्यालय के पास एक इंस्यूलेटर और लाइटिंग अरस्टर जल गया। विद्युत कर्मी पूरे शहर में फाल्ट खोजते रहे। शाम करीब ४ बजे यहां सुधार कार्य हुआ और ५ बजे बिजली आई। इसी तरह मंगलवार को भी जिला अस्पताल के पास आंधी ने एक पेड़ को धरासायी कर दिया जिससे ४ घंटे तक बिजली गुल रही।
लाइनों पर प्रतिमाह पड़ रहा 40 लाख यूनिट का बोझ
शहर के करीब २४ हजार बिजली उपभोक्ताओं को चौबीसों घंटे बिजली उपलब्ध कराने के लिए शहर में २२ विद्युत कर्मी मरम्मत के लिए तैनात किए गए हैं। लेकिन शहर की लाइनों पर पड़ते दबाब के कारण आए दिन फॉल्ट की समस्या आ रही है। इस सीजन में शहर के लोग करीब ४० लाख यूनिट प्रतिमाह की खपत कर रहे हैं। लाइनों पर बोझ है, लाइनों में सुधार कार्य की आवश्यकता भी महसूस की जा रही है। थोड़ी ही बारिश और आंधी में लाइनें जबाब दे रहीं हैं। शहडोल जिले के देवलौंद, ब्यौहारी, सिंहपुर, बुढ़ार, धनपुरी टाऊन में भी लाइनों की मरम्मत जरुरी बताई जा रही है।
आंधी-बारिश से संभागभर में बिगड़ी व्यवस्था
- २२ कर्मचारी देखरेख के लिए लेकिन ४-४ घंटे बाधित रही बिजली
- दो दिनों तक ग्रामीण अंचलों में ट्रिप मारती रही बिजली
- अनूपपुर जिले में १२ घंटे का रहा ब्लैक आऊट
- चचाई विद्युत वितरण कें्रद्र में इस्यूलेटर ब्लास्ट हुआ
- शहर में नपा कार्यालय के पास १ इस्यूलेटर व लाइटिंग अरस्टर जला
- जिला अस्पताल के पास पेड़ गिरने से चार घंटे अंधेरे में रहे शहरवासी
- जिले के सातों टाऊन में भी जगह-जगह हुए फॉल्ट
- मरम्मत कार्य के लिए हरकत में आया विद्युत विभाग
- संभाग भर में नजर बनाए रखे अधीक्षक अभियंता
- कहीं लाइन पर गिरे पेड़, तो कहीं टूटी विद्युत लाइनें

चचाई केंद्र ठप्प अनूपपुर, शहडोल जिला प्रभावित हुआ
मंगलवार को हुई बारिश और आंधी-तूफान के कारण अनूपपुर स्थित चचाई वितरण केन्द्र से ठप्प पड़ गया। वितरण केंद्र में लगा इंस्यूलेटर ब्लास्ट हो जाने से अनूपपुर शहर सहित इस उपकेन्द्र अंतर्गत आने वाने ५४ गांवों में अंधेरा छा गया। इस केंद्र से शहडोल जिले में भी बिजली आपूर्ती की जाती है। बारिश की बजह से सुधार कार्य में देरी हुई। जिससे गांवों में पूरे १२ घंटे का ब्लेक आऊट रहा। सुबह ६ बजे से गुल हुई बिजली शाम ६ बजे आई। शासकीय कार्यालयों सहित गांवों में अंधेरा बना रहा। अनूपपुर के कोतमा, बिजुरी, राजेन्द्रग्राम में भी फॉल्ट की बजह से गांवों में बिजली नहीं थी।

अब स्थिती सामान्य हो गई है
---बेमौसम बारिश, आंधी-तूफान के कारण विद्युत लाइनों में खराबी आ गई थी। शहडोल शहर में एक दिन इंस्यूलेटर जल गया तो दूसरे दिन पेड़ गिर गया था, जिस कारण ४ घंटे तक अंधेरा रहा था। संभाग के अन्य जिलों में भी फॉल्ट हुए थे। अब सभी जगहों पर व्यवस्था सामान्य हो गई है। अधिकारी-कर्मचारियों ने त्वरित एक्शन लिया और विद्युत लाइनों को दुरुस्त किया।
केके अग्रवाल
अधीक्षक अभियंता विद्युत विभाग शहडोल।

Ad Block is Banned