कोरोना से फिर दो की मौत, कलेक्टर ने ली बैठक, बोले निजी अस्पतालों के डॉक्टरों की लें मदद

संभाग में 14 मरीजों की हो चुकी है मौत, शहडोल के सबसे ज्यादा मरीज

By: amaresh singh

Published: 09 Sep 2020, 11:49 AM IST

शहडोल। संभाग में लगातार कोरोना मरीजों की मौत का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। मेडिकल कॉलेज के आइसीयू में जिंदगी मौत के बीच संघर्ष कर रहे दो कोरोना मरीजों ने अंतत: इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। कोरोना संक्रमित होने के बाद लगातार दोनों मरीजों की हालत बिगड़ रही थी। बाद में आइसीयू में भर्ती कराया गया था। जहां पर दोनों कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई। संभाग में अब तक कोरोना संक्रमण से 14 मरीजों की मौत हो चुकी है। इसमें अधिकांश मृतक शहडोल और शहर के शामिल हंै। दोनों कोरोना मरीजों की मौत मंगलवार को हुई है। इसमें एक मृतक मेडिकल कॉलेज में पदस्थ डॉक्टर के रिश्तेदार हैं, जबकि दूसरी मौत अनूपपुर के 80 वर्षीय वृद्ध की हुई है। वे अनूपपुर से मेडिकल कॉलेज के लिए रैफर किए गए थे।


संभाग में लगातार 14 मरीजों की मौत
कोरोना से संभाग में मौतों की संख्या बढ़ती जा रही है। संभाग में अब कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 14 तक पहुंच चुकी है। इसमें शहडोल में 8 कोरोना मरीज, अनूपपुर में 4 कोरोना मरीज तथा उमरिया में 2 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। शहडोल में जो अब तक 8 कोरोना मरीजों की मौत हुई है।


19 नए मरीज मिले कोरोना पॉजिटिव
शहडोल में मंगलवार को 19 लोग पॉजिटिव आए हैं। अब तक 15 हजार 690 व्यक्तियों का अभी तक सैंपल लिया गया। जिसमें अभी तक 771 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिनमें 564 कोरोना वायरस के मरीज ठीक हो गए तथा मंगलवार 11 मरीज ठीक हो गए है, अभी 200 कोरोना पीडि़त हैं।

ब ढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच अब प्राइवेट नर्सिंग होम्स के डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टॉफ मेडिकल कॉलेज में मरीजों का इलाज करेंगे। दो दिन भागीदारी पहल के तहत ट्रेनिंग देकर सेवाएं ली जाएंगी। कलेक्टर डॉ. सतेन्द्र सिंह की मौजूदगी में प्राईवेट नर्सिंग होम संचालकों की कोविड-19 तैयारियों को लेकर बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने कोविड के बढ़ते मामलों को लेकर प्राईवेट नर्सिंग होम संचालकों से समन्वय एवं सहयोग की अपील की। उन्होने कहा कि संस्था में उपलब्ध एम्बुलेंस, आक्सीजन सिलेण्डर, वेंटीलेटर तथा अन्य सुविधाएं रखें। कलेक्टर ने कहा कि संस्था में कोविड मरीज के लिये बेड भी उपलब्ध रखे ताकि आपातकालीन स्थिति में उनका उपयोग किया जा सकें। अस्पताल में आने वाले मरीजों से कोविड-19 के संबंध में जानकारी ली। बैठक में सीएमएचओ डॉ राजेश पाण्डेय, सिविल सर्जन डॉ. व्हीएस बारिया, मेडिकल कॉलेज के कोविड प्रभारी डॉ. आकाश रंजन सिंह, महामारी नियंत्रण अधिकारी डॉ. अंशुमन सोनारे, सराफ अस्पताल के डॉ. साकेत सराफ, धनपुरी अस्पताल के सीएमएचओ डॉ. एके पटेरिया, श्याम केयर शहडोल के डॉ. अविनाश गौतम, परमानंद अस्पताल के डॉ. सत्येश विशनदासनी, श्रीराम अस्पताल के डॉ. पवित्र अग्रवाल, डॉ. पुनीत श्रीवास्तव, मोहम्मद अशरथ, जिला रोजोउपचार प्रभारी राकेश श्रीवास्तव, डीसीएम रामगोपाल गुप्ता मौजूद रहे।
क लेक्टर ने सीएमएचओ को निर्देशित किया कि प्राईवेट नर्सिंग होम के संचालकों से कोविड कमांड सेंटर से जोड़ा जाए तथा शहरी शहडोल के सेक्टर अधिकारियों की सूची भी दी जाए। कोविड-19 से निपटने संसाधनों की कोई कमी नहीं है, आवश्यकता है स्वयं जागरूक रह कर दूसरे को संक्रमण से बचाने का प्रयास हो। जिले में सामुदायिक संक्रमण की स्थिति नहीं है । प्राईवेट नर्सिंग होम के संचालक कोरोना मरीजो से शासन के प्रोटोकॉल के अनुसार एवं शासन द्वारा निर्धारित दरो का ही बिल दें। एक मोबाइल वैन चलाई जाए। कमांड सेंटर के सम्पर्क में रहे। यदि मरीज होम आइसोलेशन में है और दवाईयों की मांग करता है तो उसे उपलब्ध कराया जाए।


25 सैंपलों में 3 सैंपल तीन जगहों से होंगे क्रॉस चेक
संभावित मरीज अपने क्षेत्रो में स्थापित फीवर क्लीनिक में संैपल कलेक्शन करा सकते है। उन्होने डॉ. आकाश रंजन सिंह को निर्देशित किया कि फीवर क्लीनिक से संभावित 25 मरीजों के 3 सैंपल लेकर उनका परीक्षण मेडिकल कॉलेज के टूनॉट, आरटीपीसी मशीन में कराएं और एक सैंपल एम्स भोपाल से क्रॉस कराएं।

Coronavirus causes Coronavirus in india How do you treat coronavirus?
Show More
amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned