मनरेगा मजदूरी भुगतान में प्रदेश में उमरिया प्रथम और शहडोल दूसरे स्थान पर

अनूपपुर जिला 40 वें पायदान पर, मनरेगा से उपलव्ध कराया जा रहा रोजगार

By: lavkush tiwari

Published: 14 Jun 2020, 09:08 PM IST

शहडोल. संभाग में मनरेगा योजना के तहत श्रमिकों को रोजगार दिया जा रहा है। बताया गया है कि मनरेगा को लेकर संभाग के कमिश्नर नरेशपाल और कलेक्टर डा. सत्येन्द्र सिंह और सीइओ जिला पंचायत पार्थ जायसवाल के निर्देश पर ग्रामीण श्रमिकों को हर ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत रोजगार दिलाए जा रहे हंै। श्रमिकों के भुगतान के मामले में उमरिया जिला प्रदेश में पहले पायदान और शहडोल जिला दूसरे तथा उमरिया जिला चालीसवें स्थान पर है। उमरिया जिले में जहां ९९.९८ प्रतिशत श्रमिकों का भुगतान किया गया है, वहीं शहडोल में ९९.७७ तथा अनूपपुर जिले में यह आंकड़ा सबसे कम ९३.७ दर्ज किया गया है। हालाकि संभाग में श्रमिकों को जिला पंचायत द्वारा मनरेगा में ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को रोजगार ग्राम पंचायतों के माध्यम से कराए जा रहे हैं। शासन की मनरेगा की गाइड़ लाइन के अनुसार श्रमिकों का भुगतान हर सप्ताह में नियमितरूप से किया जाना अनिवार्य किया गया है। जिसे उमरिया और शहडोल जिले में नियमित रूप से किया गया, लेकिन अन्य जिलों ने इस मामले में लापरवाही की है।
यह है श्रमिकों के रोजगार की स्थिति-
शहडोल-५९ हजार १६८
अनूपपुर- ५३ हजार ३५५
उमरिया-४२ हजार ३९५
प्रदेश में जिले का दूसरा स्थान
मनरेगा श्रमिकों की मजदूरी का समय पर भुगतान करने के मामले में शहडोल जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर है, वहीं उमरिया जिला पहले स्थान पर बना हुआ है।
एके शुक्ला
एओ मनरेगा
जिला पंचायत
शहडोल

Show More
lavkush tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned