script बेमौसम बरसात: तड़के से शुरू हुआ बारिश का दौर शाम तक जारी रहा, दिनभर घरों में दुबके रहे लोग | Unseasonal rain: The rain started in the morning and continued till th | Patrika News

बेमौसम बरसात: तड़के से शुरू हुआ बारिश का दौर शाम तक जारी रहा, दिनभर घरों में दुबके रहे लोग

locationशाहडोलPublished: Feb 12, 2024 12:48:48 pm

Submitted by:

Ramashankar mishra

गेहूं और जौ के लिए संजीवनी दलहनी फसल-सब्जियों में कीट लगने का खतरा

बेमौसम बरसात: तड़के से शुरू हुआ बारिश का दौर शाम तक जारी रहा, दिनभर घरों में दुबके रहे लोग
बेमौसम बरसात: तड़के से शुरू हुआ बारिश का दौर शाम तक जारी रहा, दिनभर घरों में दुबके रहे लोग

शहडोल. बेमौसम बारिश ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बीती रात्रि से शुरु हुआ बारिश का दौर दूसरे दिन रविवार को भी जारी रहा। गरज चमक के साथ ही पानी की तेज बौछारों ने लोगों को प्रभावित किया है। रविवार की सुबह कुछ समय के लिए सूर्य देव के दर्शन हुए। इसके बाद पूरा दिन रुक-रुक कर बारिश होती रही। मौसम में नमी व हवाओं के झोंको की वजह से ठंडक बढ़ गई है। आने वाले दो दिनों तक ऐसा ही मौसम रहने के साथ ही ठंड बढऩे की संभावना है। रविवार होने की वजह से लोग घरों में ही दुबक रहे। बाजार में भी चहल-पहल देखने नहीं मिली। लोग बारिश की वजह से बढ़ी ठंड से बचते नजर आए। तेज गरज लपक के साथ हुई बारिश के चलते शहर के कई हिस्सों में कुछ समय के लिए विद्युत आपूर्ति भी बाधित रही।
कुछ फसलों को फायदा, कुछ को नुकसान
बारिश की यह बूंदे कुछ फसलों के लिए अमृत तो कुछ के लिए नुकसानदायक साबित होंगी। जानकारों की माने तो बारिश की बूंदे गेहूं, जौ व अलसी के लिए संजीवनी का काम करेंगी। इसके अलावा सब्जियों व दलहनी फसलों के लिए यह नुकसानदायक है। मौसम खुलने के बाद दलहनी फसल चना, मसूर, अरहल में इल्लियां लगने का डर है। साथ ही टमाटर व भांटा में उखटा रोग लग सकता है। इसके लिए किसान पहले से ही आवश्यक उपाय करें।
गली व घरों में भरा लबालब पानी
पूरे दिन हुई बारिश के चलते नगर के कई हिस्सो में जलभराव की स्थिति निर्मित हुई। पानी निकासी की समुचित व्यवस्था न होने की वजह से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। नालियों का गंदा पानी व कचरा सड़क में भर गया। नगर के वार्ड क्रमांक 30 मतनी टोला में बारिश के बाद सड़क व घरों में लबालब पानी भर गया। पूरा दिन वार्ड वासी परेशान रहे। वार्ड वासियों का कहना था कि नगर पालिका ने सड़क तो बनवा दी लेकिन पानी निकासी के लिए समुचित व्यवस्था नहीं बनाई। बारिश का पूरा पानी लोगों के घरों में भर गया। इसके अलावा नगर के सब्जी मण्डी, पुरानी बस्ती सहित अन्य क्षेत्रों में भी काफी देर तक पानी भरा रहा।
मौसम में घुली नमी, हवाओं ने बढ़ाई ठंडक
मौसम में आए अचानक परिवर्तन के बाद एक बार फिर से ठंड बढ़ गई है। बारिश की बूंदे ने मौसम में नमी घोलने का काम किया है, वहीं हवाओं ने ठंड बढ़ा दी है। जानकारों की माने तो आगामी दिनो में ठंड और बढऩे की संभावना है।

ट्रेंडिंग वीडियो