खुद का दर्द छिपाकर सबको हंसाता था, पता नहीं था ऐसे साथ छोड़ जाएगा

शहर के बस स्टैंड के नजदीक हादसे में युवक की मौत से हर कोई स्तब्ध

By: shubham singh

Published: 28 Jul 2021, 09:54 PM IST

शहडोल. शहर के बस स्टैंड के नजदीक सड़क हादसे में युवक की मौत ने सबको झकझोर दिया है। घटना के बारे में सुनने वाला हर कोई स्तब्ध था। लोगों के आंखों से बहती आंसुओं की धार दर्द बयां कर रही थी। दोस्तों का सब्र का धैर्य उस वक्त टूट गया, जब पीएम के बाद शव सुपुर्द किया गया। नम आंखों से दोस्तों ने अंतिम विदाई दी। दरअसल मंगलवार की शाम को शहर के बस स्टैंड के नजदीक बदहाल सड़क से गुजरते वक्त तेज रफ्तार डंपर ने बाइक चालक जीतेन्द्र सोनी निवासी सोहागपुर को टक्कर मार दी थी। हादसे में घायल युवक को इलाज के लिए ले जाया गया था, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। युवक की मौत के बाद शहर के लोगों का गुस्सा फूटा। लोगों ने जहां एक ओर सोशल मीडिया में जमकर नाराजगी जताई। वहीं अधिकारियों को भी जमकर कोसा। युवक के मित्र अनुराग शुक्ला बताते हैं, जीतेन्द्र हर किसी के दुख में आगे आकर साथ देता था। खुद का दर्द छिपाकर लोगों को हंसाता था लेकिन पता नहीं था ऐसे साथ छोड़ जाएगा। अधिकारी बदहाल सड़क की सुध पहले लेते तो हमारा दोस्त साथ होता।

हाइवे पर एक से दो फिट के गढ्डे, अफसरों की नहीं टूट रही नींद
शहर में सड़कों की हालत बेहद खराब है। जगह-जगह गड्ढे हैं। आए दिन सड़कों पर जिंदगियां ढेर हो रही हैं। सड़क हादसे के बाद पत्रिका टीम गोरतरा मार्ग से लेकर बाइपास और कोटमा तिराहा तक पड़ताल की। यहां पर सड़कों में कई खामियां नजर आई। कई जगहों में तो एक से दो फिट तक गडरे गड्ढे थे। अक्सर यहां पर रात के वक्त बाइक और वाहन धंस जाते हैं। इसके बावजूद अधिकारियों की कुभकर्णी नींद नहीं टूट रही है। हादसों के बाद अधिकारियों द्वारा सड़क पर मुरुम बिछाई जा रही है लेकिन बारिश के बाद हालात जस के तस हो जाते हैं। जनप्रतिनिधि भी कोई प्रभावी प्रयास नहीं कर रहे हैं।

Show More
shubham singh Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned