कबाड़ में खपा रहे थे वाहनों के पार्ट्स और बाइक, हर माह होता है दो करोड़ का कारोबार

कोयलांचल के बुढ़ार में सबसे बड़ा ठीहा, चोरी का माल कटाकर भेजते हैं जबलपुर

By: amaresh singh

Published: 31 Jul 2021, 11:19 AM IST

शहडोल. जिले में कबाड़ कारोबारियों ने बड़ा नेटवर्क तैयार कर लिया है। चोरी के वाहनों के साथ एसइसीएल कॉलरी से मशीनरी और बड़े वाहन पार कर कबाड़ में खपाया जा रहा है। संभाग के तीनों जिलों में बड़े कबाड़ कारोबारी सक्रिय हैं। यहां से हर माह दो से तीन करोड़ का कबाड़ दूसरे जिलों में सप्लाई किया जा रहा है। शहडोल सिटी कोतवाली पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कबाड़ कारोबारियों से 2 लाख 15 हजार रुपए का कबाड़ जब्त किया है। पुलिस ने एक ट्रक भी जब्त किया है। टीआई रत्नांबर शुक्ला के अनुसार, पुलिस को सूचना मिली थी कि गोरतरा स्थित पेट्रोल पंप के पास कुछ लोग अवैध रूप से कबाड़ लोड कर बेचने के लिए लेकर जाने वाले हैं। इस पर पुलिस ने एक टीम बनाकर कार्रवाई की। पुलिस टीम गोरतरा स्थित पेट्रोल पंप के पीछे पहुंची, जहां पुलिस को मुन्ना सराफ कबाड़ लोड ट्रक के साथ पकड़ाया। आरोपी ट्रक क्रमांक एमपी21जीए 5235 कबाड़ से लोड था। पुलिस ने आरोपी मुन्ना उर्फ यादवेन्द्र शराफ निवासी गोरतरा से पूछताछ की। ट्रक चालक प्रकाश चक्रवर्ती उर्फ धौरी निवासी कुम्हार मोहल्हा माधवनगर कटनी को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस के अनुसार, ट्रक में पीतल का सामान, ट्रैक्टर के इंजन पार्टस, बाइक के पार्टस भी मिले हैं।

पहले भी खपाया बाइक और कई बड़े वाहन
आरोपियों से पूछताछ में कई सुराग पुलिस के हाथ लगे हैं। आरोपियों ने बाइक से लेकर कई कीमती सामान कबाड़ में चोरी का खपा चुके हैं। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि ये कबाड़ रहीम कबाड़ी निवासी सोहागपुर के यहां लेकर जा रहे हैं। इसके पूर्व भी ये लगभग 30 किलो पीतल का सामान, 6 रेडियटर, 4 बाइक और इंजन के पार्टस समेत अन्य सामान लेकर रहीम कबाड़ी व अनीष कबाड़ी को बेच चुका है। इसके पहले भी आरोपी अक्सर यहीं पर चोरी का कबाड़ खपा रहे थे।

रहीम, अनीष के ठीहोंं पर दबिश, यहां भी मिला चोरी का कबाड़
रहीम कबाड़ी के सोहागपुर स्थित कबाड़ ठीहे पर दबिश देकर तलाशी लिए जाने पर वहां से कई वाहनों के कटे इंजन, रेडियेटर, पीतल धातु एवं अन्य लोहे का चोरी का सामान जब्त किया गया। अन्य आरोपी अनीश के कबाड़ ठीहे में दबिश देने पर बाड़ा व घर पर ताला लगा मिला। आरोपी रहीम व अनीश काबाड़ी घर दोनों ही पुलिस की भनक लगते ही भाग निकले थे। इस पर पुलिस चारों कबाडिय़ों पर मामला दर्ज कर विवेचना कर रही है। कार्रवाई में निरीक्षक रत्नांबर शुक्ला, सउनि राकेश बागरी, सउनि विपिन बागरी, प्रधान आरक्षक अरविंद, सोनी नामदेव एवं आरक्षक आशाराम की भूमिका रही।

कोयलांचल से हर माह एक करोड़ का कारोबार, कई अवैध ठीहे
कोयलांचल के बुढ़ार, धनपुरी और अमलाई में जगह-जगह कबाड़ कारोबारी सक्रिय हैं। हर दिन यहां कॉलरी से कबाड़ पार किया जाता है। चोरी का कबाड़ बुढ़ार, धनपुरी और अमलाई के ठीहों में खपाया जाता है। यहां पर बड़े वाहन और मशीन कटने के बाद जबलपुर सप्लाई कर दिया जाता है। सूत्रों की मानें तो हर माह अकेले शहडोल के कोयलांचल क्षेत्र से एक करोड़ का कबाड़ सप्लाई होता है। ऐसा भी नहीं है कि थानों की पुलिस को भनक न हो। गठजोड़ के चलते थानों की पुलिस भी लंबे समय से प्रभावी कार्रवाई कोयलांचल में नहीं की है। बुढ़ार में ओपीएम रोड और बस स्टैंड बुढ़ार के सामने कबाड़ कारोबारियों का सबसे बड़ा ठीहा है। यहां पर अनूपपुर तक से कबाड़ सप्लाई होता है। इसका कनेक्शन जबलपुर से है। गोरतरा मामले में फरार आरोपी अनीष और अनूपपुर का एक रसूखखार कबाड़ कारोबारी भी यहां पार्टनर में है। इसके अलावा अमरकंटक रोड व अमलाई में कई बड़े ठीहे हैं।

पुलिस की गठजोड़ उजागर, कॉलरी प्रबंधन की मिलीभगत
शहडोल में कबाड़ कारोबारी और पुलिस के बीच गठजोड़ भी उजागर हो चुकी है। अधिकारियों के अभयदान के चलते कबाड़ कारोबारी कॉलरी से मशीनरी और बड़े वाहन चोरी करके यहां पर खपाते हैं। कॉलरी प्रबंधन की भी मिलीभगत है। कबाड़ कारोबारी का बुढ़ार के बाद शहडोल का अनीष और रहीम सबसे बड़े कबाड़ कारोबारी हैं। इनसे पूर्व में भी पुलिस कबाड़ जब्त कर चुकी है। इसी तरह अनूपपुर और उमरिया के कोयलांचल क्षेत्र में कबाड़ कारोबारियों ने अपना अवैध ठीहा बना रखा है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned