नारकीय जीवन से मुक्ति दिलाने ग्रामीणों ने लगाई गुहार

ट्रेंचिंग ग्राउंड को बदलने प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

By: brijesh sirmour

Published: 03 Mar 2020, 10:20 AM IST

शहडोल. ग्राम जमुआ में नगर पालिका द्वारा कचरा फेंकना बंद कराने की मांग को लेकर सोमवार को भारत विकास परिषद के पदाधिकारियों एवं कई ग्रामवासियों ने एसडीएम मिलिन्द नागदेवे को एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि ग्राम जमुआ के खुले स्थान पर नगरपालिका द्वारा पिछले दस वर्षों से अधिक समय से शहर का कचरा फेंका जा रहा है। जिससे ग्राम जमुआ के रहवासियों का जीवन नारकीय हो गया है। साथ ही कचरा को खाकर गांव के मवेशी मर रहे हैंं और गांव के बच्चे कचरा बीनकर प्राप्त पैसे से नशा का शिकार हो रहे हैं। गौरतलब है भारत विकास परिषद ग्राम जमुआ को समग्र ग्राम विकास योजना के तहत गोद लिया हुआ है। इसलिए परिषद के सदस्यों द्वारा भी ग्राम जमुआ के समस्याओं के निवारण के लिए कलेक्टर को ज्ञापन दिया गया। ग्रामवासियों का कहना है कि खाना खाते वक्त झुंड में बहुत सारी मक्खियां एकत्रित हो जाती है. जिससे उनका खाना-पीना मुश्किल हो जाता है। ज्ञापन सौपने के दौरान भारत विकास परिषद के सचिव प्रदीप गुप्ता, सुशील सिंघल, रविंद्र गुप्ता सहित काफी संख्या में ग्रामीणजन एकत्रित रहे।

Show More
brijesh sirmour
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned