वसूल रहा था 20 प्रतिशत ब्याज, दो पर कार्रवाई

30 हजार कर्ज देकर वसूल रहा रहा था 20 प्रतिशत ब्याज

By: amaresh singh

Updated: 09 Aug 2021, 11:36 AM IST

शहडोल. शहर के रेलवे कॉलोनी निवासी एक युवक को 30 हजार रुपए कर्ज देकर 20 प्रतिशत ब्याज वसूलने का मामला सामने आया है। रसूखदार आरोपियों द्वारा पीडि़त के दस्तावेज रखकर डराया धमकाया भी जा रहा था। एसपी अवधेश गोस्वामी के पास शिकायत पहुंचते ही मामला दर्ज कराया है। मामले की शिकायत पीडि़त चन्द्रभूषण ने एसपी के यहां शिकायत दर्ज कराई थी। बाद में कोतवाली पुलिस ने जांच में लिया था। पीडि़त का बयान दर्ज और दस्तावेजों की जांच के बाद दो आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। कोतवाली टीआई रत्नांबर शुक्ला के अनुसार, चन्द्रभूषण आजाद निवासी रेलवे कॉलोनी ने शिकायत दर्ज कराई थी। पीडि़त ने शहर के मोहनराम तालाब के नजदीक रहने वाले अनिल चेलानी से 30 हजार रुपए ब्याज में लिया था। 20 प्रतिशत ब्याज की दर से अनिल चेलानी को 36 हजार रुपए दिया जा चुका था। आर्थिक तंगी की वजह से दो माह तक ब्याज न दे पाने की वजह से अब अनिल द्वारा अपने साथी राजेश को घर भेजा जा रहा था। पीडि़त ने बताया कि पत्नी और परिवार के साथ अभद्रता कर गाली-गलौज की जाती थी। बताया गया कि कई बार कार्यालय पहुंचकर भी अभद्रता की थी। पीडि़त की शिकायत के बाद पुलिस ने अनिल चेलानी और राजेश द्विवेदी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।


थाना स्तर में सेल, सीधे एसपी के पास शिकायत
एसपी अवधेश गोस्वामी के अनुसार, सूदखोरों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। ऐसे पीडि़त सीधे थाना जाकर शिकायत कर सकते हैं। थाना स्तर पर शिकायत न होने पर सीधे मुझसे भी संपर्क कर सकते हैं। थानों में सूदखोरों की जांच और पीडि़तों की सुनवाई के लिए अलग से सेल बनाई गई है। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया गया है।


कोयलांचल में सोसाइटी पदाधिकारियों को छोड़ा
कोयलांचल के सूदखोर जेल से छूटने के बाद दोबारा कर्ज में पैसा देना शुरू कर दिया है। कई आरोपी तो पुराने फरियादियों के यहां पहुंचकर डरा-धमका भी रहे हैं। उधर कॉलरी सोसाइटी के कर्मचारियों के खिलाफ सूदखोरों से नेटवर्क जुड़ा मिलने पर तो कार्रवाई कर दी थी लेकिन सोसाइटी के पदाधिकारियों के खिलाफ अब तक कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं की गई। जबकि इनकी भी संलिप्तता रही है।

amaresh singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned