पीएससी के कड़े नियम: घड़ी चश्मा और जूते पहने तो नहीं बन सकेंगे डीएसपी और डिप्टी कलेक्टर

पीएससी के कड़े नियम: घड़ी चश्मा और जूते पहने तो नहीं बन सकेंगे डीएसपी और डिप्टी कलेक्टर

shubham singh | Publish: Feb, 15 2018 08:52:15 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

दो सत्रो में होगी परीक्षा, 4 दल करेंगे निगरानी , परीक्षा केंद्र में चश्मा, जूते, मोजे, हाथ के बैण्ड, मोबाईल ले जाना होगा प्रतिबंधित


शहडोल। यदि आप डिप्टी कलेक्टर, डीएसपी और कई बड़े पदों के लिए परीक्षा दे रहे हैं तो सावधान हो जाइए। आपके हाथ की घड़ी, आंख का चश्मा और पैर के जूते मोजे आपको डीएसपी और डिप्टी कलेक्टर बनने से रोक सकते हैं। जिले के अलग अलग सेंटरों में 18 फरवरी को आयोजित होने वाली परीक्षा को लेकर नए नियम दिए हैं। मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा 18 फरवरी 2018 को राज्यसेवा एवं राज्य वनसेवा प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन संभागीय मुख्यालय शहडोल के 8 परीक्षा केन्द्रों में किया जा रहा है। कलेक्टर नरेश पाल ने बताया कि राज्यसेवा एवं राज्यवन प्रारंभिक सेवा के दौरान अभ्यर्थियों को प्रथम सत्र में 09.30 बजे एवं द्वितीय सत्र में 01.45 बजे तक परीक्षा केन्द्रों में प्रवेश दिया जायेगा। उन्होने बताया कि परीक्षार्थी चश्मे, जूते-मोजे, हाथ के बैण्ड, हाथ में बंधे बंधन व इलेक्ट्रानिक सामग्री परीक्षा केंद्र में नहीं ले जा सकेंगें। परीक्षा केन्द्रों में केन्द्राध्यक्षों द्वारा परीक्षार्थियों मोबाईल व अन्य सामग्री को टोकन प्रदाय कर सुरक्षित रखने की व्यवस्था की जायेगी, ताकि किसी परीक्षार्थी को असुविधा न हो। कलेक्टर ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों में मूलफोटो परिचय पत्र के आधार पर प्रवेश पत्र दिया जायेगा। जिन आवेदकों को ऑनलाईन प्रवेश पत्र में फोटो तथा हस्ताक्षर उपलब्ध नहीं है या अनुपलब्ध हैं ऐसे विद्यार्थी अपने ऑनलाईन प्रवेश पत्र पर फोटो चिपकाकर अपने हस्ताक्षर कर राजपत्रित अधिकारी से प्रमाणित करा लें तथा एक फोटो की प्रति अपने साथ रखें तथा आवेदन पत्र के रशीद की प्रति जो फार्म जमा करते समय प्राप्त की गई है अपने पास रखें। जिन छात्रों के पास प्रवेश पत्र नहीं है किंतु केंद्र के लिस्ट में नाम है वे द्वितीय प्रति बनवाकर केंद्र से प्रवेश पत्र प्राप्त कर सकते है।
गठित किया गया निरीक्षण दल
कलेक्टर नरेश पाल ने बताया कि जिला कोषालय से परीक्षा केंद्रों तक गोपनीय सामग्री एवं मुहर बंद प्रश्न पत्र पहुंचाये जाने हेतु 4 दल गठित किये गये हैं तथा प्रत्येक केन्द्रों में कानून व्यवस्था एवं परीक्षा के दौरान अनुचित संसाधनों का उपयोग न हो इस हेतु 8 केन्द्रों के लिये 4 निरीक्षण दल गठित किये गये हैं। परीक्षा केंद्र पंडित शंभूनाथ शुक्ल शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय जिला शहडोल के उडऩदस्ता प्रभारी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जयसिंहनगर जे.एल.तिवारी, शासकीय पॉलीटेक्निक विद्यालय शहडोल के उडऩ दस्ता प्रभारी सहायक यंत्री जलसंसाधन रीतिका गुप्ता, शासकीय इंदिरा गांधी गृह विज्ञान महाविद्यालय परीक्षा केंद्र के लिये अनुविभागीय अधिकारी जैतपुर सी.एल.चनाफ, रघुराज हायर सेकेण्ड्री स्कूल क्रमांक-1 न्यू गांधी चौक शहडोल के लिये नायब तहसीलदार बुढ़ार वीरेंद्र पटेल, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कन्या गंज दुर्गा मंदिर शहडोल के लिये तहसीलदार मनोज चौरसिया, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कन्या सोहागपुर परीक्षा केंद्र के लिये नायब तहसीलदार बी.आर.नेताम, शासकीय उच्चतर माध्यमिक एमएलबी स्कूल परीक्षा केंद्र के लिये तहसीलदार गोहपारू मीनाक्षी बंजारे एवं शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यलाय बालक सोहागपुर परीक्षा केंद्र के लिये नायब तहसीलदार सोहागपुर वीरेंद्र जैन को उडऩदस्ता दल का अधिकारी नियुक्त किया गया है। गठित निरीक्षण दल परीक्षा सामाप्ति होने के पश्चात परीक्षा केन्द्रों के निरीक्षण एवं शांतिपूर्ण परीक्षा सम्पन्न होने का प्रतिवेदन कलेक्टर को प्रस्तुत करेंगें।
कृष्ण मोहन गौतम पर्यवेक्षक नियुक्त
मध्यप्रदेश राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा हेतु मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग द्वारा कृष्ण मोहन गौतम को शहडोल संभाग के लिये पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है। पर्यवेक्षक कृष्ण मोहन गौतम का मोबाईल नम्बर 9425047345 है।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned