अरे ये क्या ? थाने से कुछ दूरी में थी अवैध कोयला खदान, फिर भी पुलिस रही अंजान

अरे ये क्या ? थाने से कुछ दूरी में थी अवैध कोयला खदान, फिर भी पुलिस रही अंजान

shivmangal singh | Publish: Mar, 14 2018 06:14:28 PM (IST) Shahdol, Madhya Pradesh, India

मामला मिट्टी धसकने से मजदूर की मौत का...

थाने से कुछ दूरी में थी अवैध कोयला खदान, फिर भी पुलिस रही अंजान

शहडोल- धनपुरी के नरगड़ा नाला के नजदीक अवैध कोयला खदान धसकने से एक मजदूर की मौत मामले में पुलिस और खनिज विभाग पर सवालिया निशान लगा दिए हैं। आश्चर्य की बात तो यह है कि कोयला खदान अवैध तरीके से पिछले कई सालों से थाना से कुछ दूरी पर ही चल रही थी। बड़े पैमाने पर दिन और रात में अवैध खनन कर कोयला निकाला जाता था लेकिन पुलिस को इसकी खबर नहीं थी। कोयले के अवैध खनन को लेकर पुलिस और खनिज विभाग के अफसर पूरी तरह अंजान बने रहे। स्थिति यह थी कि बेखौफ होकर माफिया मजदूरों के माध्यम से कोयले का अवैध खनन कर फैक्ट्री और ईट भट्ठों में सप्लाई कर रहे थे। नतीजन खदान की मिट्टी धसकने से सोमवार को मजदूर दब गए थे, जिसमें एक मजदूर की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई थी।

सूत्रों की मानें तो अमलाई के अलावा चंगेरा, चाका, नवलपुर, सोहागपुर सहित धनपुरी के कई जगहों में बड़े पैमाने पर पुरानी बंद खदानों से कोयला निकाला जा रहा है। कोयला को ईट भट्ठों के अलावा बुढ़ार में स्थित एक फैक्ट्री में लंबे समय से सप्लाई किया जा रहा है। इसके बाद भी पुलिस और खनिज विभाग कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रहा है। सूत्रों की मानें तो बड़े अफसरों ने अवैध खनन के लिए हरी झण्डी दे दी है, जिससे बेखौफ खनन कर रहे हैं।

इनका कहना है
शहडोल पुलिस रेंज आईजी आईपी कुलश्रेष्ठ के मुताबिक अवैध खनन के खिलाफ पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है। थाना के नजदीक खनन की जानकारी मेरे संज्ञान में नहीं थी। खनन के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
---------------------------------
दो दर्जन बिजली के कनेक्शन काटे
शहडोल - कार्यपालन यंत्री सुमन कुमार भारती ने बताया कि मंगलवार को शहर के घरौला मुहल्ला, बाणगंगा कॉलोनी, बलपुरवा और पुरानी वस्ती में टीम ने 24 उपभोक्ताओं के बिजली कनेक्शन डिस्कनेक्ट किए। इन बिजली उपभोक्ताओं ने लंबे समय से बिजली बिल अदा नहीं किया था, जिस कारण बिजली काटने की कार्रवाई की गई। जल्द ही और कार्रवाई होगी।

Ad Block is Banned