जब भरे बाजार में कट्टे की नोक पर लुटेरों ने मचाई सनसनी

जानिए फिर आगे क्या हुआ?

By: Shahdol online

Published: 04 Jan 2018, 01:10 PM IST

शहडोल. शहर में गुंडे कानून व्यवस्था को चुनौती दे रहे हैं। इस शांत शहर में पुलिस की रापरवाही की वजह से दशहत फैलाने वाले पैर पसार रहे हैं। इसकी बानगी शहर में शहर में बुधवार की शाम को देखने मिली। यहां पर बदमाश कट्टे की नोंक पर लोगों को डरा धमकाते रहे और पुलिस नदारद थी। शहर के भीतर चहल पहल वाले इलाके में घुसकर कट्टा अड़ाकर लूट का प्रयास किया और दुकान में तोडफ़ोड़ की लेकिन पुलिस को भनक नहीं लगी।

व्यापारियों ने वारदात करते वक्त एक आरोपी को दबोचकर धुनाई कर दी और पुलिस को सूचना दी। काफी समय बाद मौके पर पहुंची पुलिस को व्यापारियों ने आरोपी को सुपुर्द किया। वारदात शहर के जैन मंदिर के नजदीक नटराज मार्केट की है। पुलिस के अनुसार मनीष रेडीमेड में गुड्डू अकरम, भूपेन्द्र और एक अन्य आरोपी शराब के नशे में पहुंचे और कपड़ा उधार मांगने लगे। इस दौरान दुकन संचालक मनीष द्वारा मना करने पर मारपीट शुरू कर दी। देखते ही देखते कट्टा अड़ाकर दुकान में तोडफ़ोड़ की। मारपीट देखकर आसपास के व्यापारियों ने पहुंचकर गुड्डू को दबोच लिया, जबकि दो अन्य आरोपी भाग निकले। सूचना मिलते ही एएसपी एसके वर्मा व टीआई पहुंच गए।

सब्जी मंडी में भी बेरहमी से पीटा
आरोपियों ने सब्जी मण्डी के भीतर भी वारदात को अंजाम दिया। यहां पर आरोपियों ने एक राहगीर से छेड़छाड़ का प्रयास किया। यहां पर विरोध करने पर एक अंडे व्यापारी के साथ मारपीट की। उसके सिर पर कट्टे की बट से वार कर दिया। युवक के सिर में कई टांके लगे हैं।

शहर में नहीं घूमते अफसर और पुलिस
पुलिस से बेखौफ बदमाश लगातार वारदातों को अंजाम देकर पुलिस को चुनौती दे रहे हैं लेकिन पुलिस पूरी तरह गैर जिम्मेदार बनी हुई है। शााम के वक्त न तो शहर में पुलिस के अफसर राउंड में नजर आते हैं और न ही थाना के अधिकारी पुलिसकर्मी शहर में राउंड करते हैं।

इनका कहना है
शहडोल एएसपी शिवकुमार वर्मा के मुताबिक आरोपियों ने लूट का प्रयास किया है और सब्जी मण्डी में एक व्यापारी पर वार किया था। मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जबकि दो आरोपी फरार हैं। जिनकी जल्द गिरफ्तारी होगी। सभी जगहों में नाकेबंदी कर दी गई है और सभी टीआई को शहर में घूमने के निर्देश दिए हैं। हर दिन कंट्रोल रूम को अपना रूट शेयर करेंगे।

पत्रिका व्यू- क्या घर से निकले ही नहीं जनता ?
पुलिस की लचर चौकसी के चलते स्थिति यह है कि कुछ समय घर सूना छोड़ते ही ताला चटक रहे हैं। दिनदहाड़े शहर में लूट हो रही है। हाइवे में लूट का प्रयास हो रहा है। इसके बाद भी पुलिस गंभीरता नहीं दिखा रही है। अफसर घरों में बैठकर मॉनीटरिंग कर रहे हैं और जनता से दूरिया बनाई हैं। स्थिति यह है कि एक के बाद एक वारदातें हो रही हैं, अब जनता को शहर से बाहर निकलने में भी दहशत में नजर आती हैं।

Show More
Shahdol online
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned