scriptWild elephants are not decreasing here in Madhya Pradesh, surrounded b | मध्यप्रदेश में यहां कम नहीं हो रहा जंगली हाथियों का उत्पात, तीन घरों को घेरा, फिर पैर और सूंढ़ से गिराया | Patrika News

मध्यप्रदेश में यहां कम नहीं हो रहा जंगली हाथियों का उत्पात, तीन घरों को घेरा, फिर पैर और सूंढ़ से गिराया

करकटी में हाथियों ने मचाया उत्पात, लगातार ग्रामीणों को पहुंचा रहे नुकसान

शाहडोल

Published: April 20, 2022 01:21:39 pm

शहडोल. करकटी में तीन हाथियों का झुंड एक हफ्ते से अधिक समय से करकटी व अरझुली के जंगल व आस-पास की बस्तियों पर अपना जमघट लगाये हुए है। दिन में हाथियों का झुण्ड जंगल की ओर बढ़ जाता है व रात होते ही बस्ती के खेत खलिहान में रखे फसल व गन्ना,केला के फसल को अपना निवाला बना रहे है। शाम होते ही इस गांव के लोगों में दहशत का माहौल बन जाता है सोमवार की दरम्यानी रात करकटी मेें तीन हाथियों का झुंड तीन घरों मे तोडफ़ोड करते हुए घर में रखे राशन व सामानों को अस्त व्यस्त कर दिया है वहीं ग्रामीणों के खेत में लगें केला व गन्ने के फसल को नष्ठ कर दिया है। जानकारी के अनुसार सोमवार की रात हाथियों के झुंड ने रामनिवास कुशवाहा, राकेश कुशवाहा, कामता विश्वकर्मा,शिवकुमार कुशवाहा,बिरजू बैगा, राजेन्द्र कुशवाहा व भुरसू बैगा के खेतो व घरों में घुसकर तोडफ़ोड़ करते हुए उत्पात मचाया है। इतना ही नहीं हाथियों ने अन्य किसानों के खेत को भी नुकसान पहुंचाया है। दिन में हाथियों का दल जंगल की आरे छांव का सहारा लेकर आराम करते है व शाम को 5 से 6 बजे के बीच बस्तियों की आरे अपना रुख मोड़ लेते है। जहां ग्रामीणों के मे दहशत का माहौल बना रहता है। वहीं वन विभाग का अमला शाम होते ही ग्रामीणों को सर्तक करने मे जुट जाता है शाम को जिस बस्ती की तरफ झुंड जाता है वहां के ग्रामीणो को सर्तक कर दिया जाता है व उनको सुरक्षित स्थान पर रात बिताने के लिए भेजा जाता है।मंगलवार की शाम हाथियों का झुंड को करकटी के अंतु विश्वकर्मा के खेत में देखा गया था जो खेत मेें लगे गन्ना व केला की फसल को खाते देखे गये। दूसरा नौ हाथियों का दल बीते दो सप्ताह से अधिक वनचाचर के आसपास के जंगलो पर अपना डेरा जमाए हुए है। मंगलवार को हाथियों का दल जयसिंहनगर के ग्राम घियार के जंगल में देखा गया था जो अपने दले के साथ जंगलो में घूमते रहे।

Wild elephants are not decreasing here in Madhya Pradesh, surrounded by three houses, then dropped with feet and trunk
Wild elephants are not decreasing here in Madhya Pradesh, surrounded by three houses, then dropped with feet and trunk

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.