scriptWild elephants camp here in MP: If you get your favorite food, you are | मप्र में यहां जंगली हाथियों का डेरा: पसंदीदा भोजन मिला तो नहीं छोड़ रहे गांव, बस्तियों में कर रहे तोडफ़ोड़ | Patrika News

मप्र में यहां जंगली हाथियों का डेरा: पसंदीदा भोजन मिला तो नहीं छोड़ रहे गांव, बस्तियों में कर रहे तोडफ़ोड़

आमानार में हाथियों ने मचाया उत्पात तीन घरों में किया तोडफ़ोड़

शाहडोल

Published: April 17, 2022 10:48:35 pm

शहडोल. हाथियों का उत्पात लगातार जारी है। यहां हाथियों ने फिर तीन ग्रामीणों का घर तोड़ दिया है। नौ हाथियों का दल पिछले एक सप्ताह से जयसिंहनगर के ग्राम वनचार के आसपास घूम रहा है। जिसमें गजदल बार-बार घरों को तबाह कर रहे है। ग्रामीण अपने घरों को बचाने के लिए खुद हाथियों को खदेडऩे में लगे हैं। इससे ग्रामीणों की जान को खतरा बना रहता है। ग्रामीणों के अनुसार नौ हाथियों झुंड ने बीती रात ग्राम पंचायत वनचाचर के ग्राम आमानार में तीन ग्रामीण बबोली कोल, ललुआ कोल व जयपाल कोल के मकानों को तोड़ दिया व घर में रखे अनाज को अपना निवाला बना लिया। ग्रामीणों की माने तो वनचाचर के जंगल में हाथियों का झुंड बीते एक सप्ताह से भटक रहा है जिसके निगरानी में वन विभाग व पुलिस अमला तैनात है। वहीं तीन हाथियों का दूसरा दल सिंरौजा में शनिवार की रात बस्ती में खेत खलिहान में रखे फसल व केला के फसलों को चौपट कर दिया जिसके कारण किसानों को काफी नुकसान हुआ। वहीं हाथियों के दहशत से ग्रामीण घरों से भाग कर पंचायत भवन व पक्के माकान के छतों पर रात गुजारने को मजबूर हुए। सुबह होते ही गजदल करकटी के जंगल में देखे गए। दोनो ही स्थानो के गजदल सुबह होते ही नदी तलाबों के किनारे छांव में बैठे नजर आते है। व शाम होते ही बस्ती की ओर अपना रुख मोड़ लेते है। शाम होते ही ग्रामीणों को इस बात का डर सताने लगता है कि आज गजदल कि क्या हरकत होगी व किसके मकाना को अपना निशाना बनाएगेंं इस बात से ग्रामीण रात भर अपने घरों की तकवारी दूर जाकर ऊचे स्थानों से करते है। हाथियों के आंतक से वन अमला भी परेशान है। शाम होते ही अमला हाथियों की लोकेशन के आसपास रहता है बस्ती की तरफ जाने पर आस-पास के घरों को खाली कराकर परिवार को सुरक्षित स्थान पर रखा जाता है।

मप्र में यहां जंगली हाथियों का डेरा: पसंदीदा भोजन मिला तो नहीं छोड़ रहे गांव, बस्तियों में कर रहे तोडफ़ोड़
मप्र में यहां जंगली हाथियों का डेरा: पसंदीदा भोजन मिला तो नहीं छोड़ रहे गांव, बस्तियों में कर रहे तोडफ़ोड़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितMaharashtra Political Crisis: आदित्य ठाकरे का बागी विधायकों पर निशाना, कहा- नहीं भूलेंगे विश्वासघात, हमारी जीत तय हैMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में सियासी उलटफेर का खेल जारी, बागी विधायकों को डिप्टी स्पीकर ने जारी किया नोटिसBPSC Paper Leak: पेपर लीक मामले में गिरफ्तार हुए JDU नेता शक्ति कुमार, सबसे पहले पेपर स्कैन कर WhatsApp पर था भेजाAmarnath Yatra: अमरनाथ यात्रा से 4 दिन पहले प्रशासन अलर्ट, सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उठाया बड़ा कदमMumbai News Live Updates: महाराष्ट्र विधानसभा के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल के खिलाफ नया अविश्वास प्रस्ताव पेशMaharashtra Political Crisis: शिवसेना में बगावत के बाद अब उपद्रव का डर! पोस्टर वॉर के बीच एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे में धारा 144 लागूAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा है
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.