आगे आए युवा, वैक्सीनेशन के पहले रक्तदान कर निभाई अपनी जिम्मेदारी

वैक्सीनेशन, प्लाजमा और रक्तदान को लेकर अभियान चलाएगा अभाविप

By: Ramashankar mishra

Published: 02 May 2021, 12:27 PM IST

शहडोल. कोरोना संक्रमण के बीच लोगों ने रक्तदान से भी दूरियां बना ली हैं। ब्लड बैंकों में लगातार खून का संकट हो रहा है। उधर वैक्सीनेशन के बाद 70 दिन तक रक्तदान न करने को लेकर ब्लड बैंकों में और मुश्किलें बढ़ सकती हैं। संकट काल में लोगों की जिंदगियां बचाने के लिए अभविप आगे आया है। जिला अस्पताल शहडोल के ब्लड बैंक में शनिवार को अभाविप के कार्यकर्ताओं ने रक्तदान शिविर लगाया। यहां पर युवा कार्यकर्ताओं ने उत्साह पूर्वक 15 यूनिट रक्तदान किया। जिससे शहडोल में मरीजों को हो रही रक्त की कमी को पूरा किया जा सके। पत्रिका महामारी से महामुकाबला के तहत अभाविप इस रक्तदान शिविर पूरे जिले की अलग-अलग इकाइयों में भी आयोजित करने का आव्हान किया है। रक्तदान शिविर में युवा कार्यकर्ताओं ने दूसरों को भी रक्तदान के प्रति पे्ररित करने का संकल्प लिया। शिविर में अभाविप के विभाग संगठन मंत्री मनोज यादव, शिवम वर्मा विष्णुकांत, अभिषेक यादव, आकाश कुशवाहा कार्यकर्ताओं ने रक्तदान किया।
सिकलसेल और थैलेसिमिया मरीजों को जरूरत
जिला अस्पताल पैथालॉजिस्ट डॉ सुधा नामदेव के अनुसार हर दिन पांच मरीजों को ब्लड दिया जा रहा है। कई यूनिट ब्लड प्रसूताओं को नि:शुल्क और बिना एक्सचेंज के जरूरत पडऩे पर दिया जा रहा है। इसी तरह सिकलसेल और थैलेसिमिया मरीजों को खून की जरूरत पड़ती है। जिसके लिए ब्लड बैंक ही सहारा है। डॉ सुधा नामदेव के अनुसार, वैक्सीनेशन के बाद 70 दिन रक्तदान नहीं कर सकेंगे। अभी ब्लड बैंक में खून की कमी भी है। लोगों को आगे आकर रक्तदान करना चाहिए।
इनका कहना है
मैंने रक्तदान किया और मेरे स्वास्थ्य पर इसका कोई प्रभाव नहीं है बल्कि बहुत अच्छा अनुभव हो रहा है। मैं सभी युवा तरुणाई से आव्हान करता हूं कि वैक्सिन लगवाने के पहले रक्तदान जरूर करें व समाज के प्रति अपने उत्तरदायित्व का निर्वाहन करें।
-मनोज यादव, विभाग संगठन मंत्री शहडोल।

Show More
Ramashankar mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned