आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां फिर धरने पर, जिला प्रशासन ने कार्रवाई की दी चेतावनी

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां फिर धरने पर, जिला प्रशासन ने कार्रवाई की दी चेतावनी

Amit Sharma | Publish: Feb, 15 2018 07:20:40 PM (IST) Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

अधिकारियों ने कहा है, पहले की तरह काम छोड़कर धरना प्रदर्शन को लम्बे समय तक चलाया तो बेहद कड़ी कार्रवाई होगी।

शाहजहांपुर। एक बार फिर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने कलेक्ट्रेट में जमकर हंगामा काटा। मानदेय बढ़ाने और नौकरी को स्थाई करने की मांग को लेकर दर्जनों आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने जमकर हंगामा किया और धरना प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने धमकी दी है कि अगर उनकी मांगें नहीं मानीं गईं तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगी। वहीं अधिकारियों की मानें तो अगर पहले की तरह काम छोड़कर धरना प्रदर्शन को लम्बे समय तक चलाया तो बेहद कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Anganwadi Workers

जिला क्रयक्रम अधिकरी ने दी चेतावनी
दरअसल आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का पिछले चार महीने से मानदेय नहीं मिला है। उनका कहना है कि होली का त्यौहार आ गया है लेकिन उनके मानदेय के बारे में कोई भी अधिकारी कुछ बोलने को तैयार नहीं है। इतना ही नहीं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की मांग है कि उन्हें मिलने वाला मानदेय चार हज़ार से बढ़ाकर 15000 किया जाए। इसके अलावा सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों की नौकरी स्थाई की जाए। इन्हीं सब मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने पहले पैदल मार्च निकाला और उसके बाद जिलाधिकारी कार्यालय के सामने जमकर हंगामा काटा और धरना प्रदर्शन किया। आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने धमकी दी है कि अगर उनकी सभी मांगें नहीं पूरी हुई तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगी।

Anganwadi Workers

पहले भी हो चुका है धरना प्रदर्शन

आपको बता दें कि अब से करीब एक महीना पहले भी जिले भर की आंगनबाड़ी कार्यकत्री और सहायिकाएं धरने पर बैठी थीं। वहीं अब शाहजहांपुर की जिला कार्यक्रम अधिकारी ज्योति शाक्य के अनुसार करीब एक महीना पहले जिले भर की सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्री महिलाएं शाहजहांपुर के राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में लंबे समय तक धरने पर बैठी रहीं जिससे मासूमों को वितरित होने वाले पुष्टाहार संबंधी सभी तरह के आंगनबाड़ी से संबंधित कार्यक्रमों में बाधा उत्पन्न होने लगी थी। तो जिले के डीएम ने पहले तो धरना प्रदर्शन कर रहीं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से काम पर वापस लौटने की अपील की लेकिन डीएम की अपील के बावजूद भी इनके कान पर जूं नहीं रेंगा। नाराज डीएम ने एक आदेश जारी कर धरना प्रदर्शन कर रहीं सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों सहायिकाओं के स्थान पर शिक्षा मित्र, शिक्षा प्रेरक, आशाओं के द्वारा द्वारा पुष्टाहार वितरण का आदेश जारी किया। इसकी भनक लगते ही धरना प्रदर्शन कर रहीं सभी आंगनबाड़ी कार्यकत्री और सहायिकाएं अपना धरना प्रदर्शन खत्म कर अपने काम पर वापस आ गए। वहीं अब एक बार फिर जब इनके धरने की आवाज बुलंद हुई है तो जिला कार्यक्रम अधिकारी ने चेतावनी दी है कि अगर पहले की तरह अगर अपना काम छोड़कर धरना प्रदर्शन का काम किया तो इस बार बेहद कठोर कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned