जानिए, राहुल गांधी के खिलाफ पर्चा भरा वाले अयूब अली की पूरी प्रोफाइल

Mukesh Kumar

Publish: Dec, 07 2017 09:52:50 (IST) | Updated: Dec, 07 2017 09:52:51 (IST)

Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India
जानिए, राहुल गांधी के खिलाफ पर्चा भरा वाले अयूब अली की पूरी प्रोफाइल

अयूब अली पीसीसी के सदस्य रहे हैं। कभी भी कांग्रेस के पदाधिकारी नहीं रहे हैं।

शाहजहांपुर। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी का निर्विरोध निर्वाचन तय है। कांग्रेस नेता अयूब अली ने राहुल गांधी के खिलाफ नामांकन दाखिल किया था। जिसे निरस्त कर दिया गया है। अय़ूब अली यूपी के शाहजहांपुर के रहने वाले हैं। उन्हें जिले से बाहर शायद ही कोई बड़ा कांग्रेस नेता जानता हो।

कभी नहीं रहे पदाधिकारी
अयूब अली पीसीसी के सदस्य रहे हैं। कभी भी कांग्रेस के पदाधिकारी नहीं रहे हैं। 1977 से सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में कार्य कर रहे हैं। शाहजहांपुर में भी कोई दबदबा नहीं है। जिले से बाहर कोई कांग्रेस कार्यकर्ता जानता होगा, इसमें भी संदेह है। माना जा रहा है कि सिर्फ चर्चा में आने के लिए पर्चा भरा है। अय़ूब अली ने तीन दिसम्बर को नामांकन किया था। उनकी सदस्य संख्या 5352376 है। वहीं नामांकन निरस्त होने के बाद अयूब अली ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व के इशारे पर उनका नामांकन निरस्त किया गया। जबकि उनके नामांकन पत्र में कोई कमी नहीं थी।


जितेन्द्र प्रसाद ने सोनिया गांधी के खिलाफ लड़ा था चुनाव
आपको बता दें कि सन 2000 में जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चुनाव की घोषणा हुई थी, तब भी शाहजहांपुर से ही कांग्रेस में वंशवाद के खिलाफ आवाज उठी थी। सोनिया गांधी के सन 1998 में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने पर कोई विरोध नहीं हुआ था। वर्ष 2000 में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए चुनाव की घोषणा हुई। शाहजहांपुर के जितेंद्र प्रसाद ने वंशवाद को खत्म करने के लिए सोनिया गांधी के खिलाफ ताल ठोक दी। कांग्रेस नेता कुँवर जितेन्द्र प्रसाद ने सांसद रहते हुए सोनिया गाँधी के ही लगातार राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने का पुरजोर विरोध किया। जितेन्द्र प्रसाद ने नवंबर, 2000 में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा था, लेकिन हार गए थे। इसके बाद उन्हें कांग्रेस में कोई तवज्जो नहीं दी गई।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned