शाहजहांपुर में बंदरों के झुंड ने गिराई दीवार, मां-बेटी समेत पांच की मौत, सीएम ने किया मुआवजे का ऐलान

शुक्रवार तड़के सुबह शाहजहांपुर जिले में बड़ा हादसा हो गया। यहां वाजिदखेल मोहल्ले में अलताफ नाम के शख्स के घर में दीवार गिरने से एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई।

शाहजहांपुर. शुक्रवार तड़के सुबह शाहजहांपुर जिले में बड़ा हादसा हो गया। यहां वाजिदखेल मोहल्ले में अलताफ नाम के शख्स के घर में दीवार गिरने से एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। अब परिवार में केवल दो ही लोग जीवित बचे हैं। इस घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू की। पुलिस ने दीवार के मलबे के नीचे दबे शवों को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा। जिस समय दीवार गिरी उस समय परिवार के लोग सो रहे थे। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने दीवार गिरने की दुर्घटना में परिवार के 5 सदस्यों की मौत पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने घायल बच्चे का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए। सीएम ने पीड़ित परिवार को चार लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।

एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत
दरअसल अलताफ के मकान से सटा हुआ उनके भतीजे का दो मंजिला मकान है। भतीजे के मकान की दो मंजिल पर शुक्रवार सुबह बंदरों ने एक दीवार को हिलाना शुरू कर दिया तो दीवार टूट कर अलताफ के आंगन आ गिरी। इस कारण आंगन में सो रही शबनम, उसकी शादीशुदा बेटी रूबी, बेटा शोएब, शहबाज, बेटी चांदनी गंभीर रूप से जख्मी हो गए। साहिल और राहिल को भी हल्की चोटें आईं। अलताफ भी आंगन में चारपाई पर सो रहा था। दीवार गिरने के बाद अलताफ ने शोर मचाया। अड़ोसी पड़ोसी भागकर आए, उन्होंने सभी घायलों को वाहनों से मेडिकल कालेज पहुंचाया, जहां शबनम, रूबी, शोएब, शहबाज और चांदनी की मौत हो गई। इस हादसे से पूरा मोहल्ला सदमें है।

70 साल के अलताफ का शाहजहांपुर के वाजिदखेल मोहल्ले में मकान है। उनकी 40 साल की बेटी शबनम के पति आसिम की दो साल पहले मौत हो गई थी, तब से शबनम अपने छह बच्चों के साथ पिता अलताफ के ही घर रहने लगी थी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned