इंसाफ की गुहार लगाने प्रेमिका पहुंची प्रेमी के घर, रात भर दरवाजे पर बैठ दिया धरना

प्रेमिका का आरोप शादी का झांसा देकर प्रेमी करता रहा शारीरिक शोषण, अब कहीं और शादी करने की तैयारी।

By: suchita mishra

Published: 04 Jan 2018, 02:59 PM IST

शाहजहांपुर। जिले में प्रेमी की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। प्रेमी से नाराज प्रेमिका इंसाफ के लिए उसके घर तक पहुंच गई। जब घरवालों ने उसके लिए दरवाजे नहीं खोले तो वो उसके घर के बाहर ही धरने पर बैठ गई। प्रेमिका का कहना है कि वो अपने प्रेमी से ही हर हाल में शादी करेगी। रात भर घर के बाहर बैठ कर धरना देने की सूचना पुलिस को दी गई तो पुलिस ने उसे समझाकर मामला टालना चाहा, लेकिन प्रेमिका बात पर अड़ी रही और इंसाफ मांगने के लिए सीधे एसपी आॅफिस पहुंच गई। मामला थाना कटरा क्षेत्र का है।

ये है मामला
थाना कटरा क्षेत्र का रहने वाला कृष्णा बरेली के मेडिकल कॉलिज में पढ़ रहा था। बरेली में उसकी मुलाकात युवती से हुई और दोनों का प्रेम प्रसंग शुरू हो गया। युवती का आरोप है कि कृष्णा से सात सालों से उसका अफेयर चल रहा है। पिछले दो महीने से वो कृष्णा के साथ रह रही थी। युवती का कहना है कि कृष्णा शादी का झांसा देकर उसे साथ ले आया। कुछ समय तक वो कृष्णा के घर में भी रही। कुछ समय बाद कृृष्णा की मां ने कहा कि कुछ दिनों के लिए तुम लोग बाहर चले जाओ।

युवती के मुताबिक कृष्णा ने हरियाणा के एक मंदिर में उससे शादी भी की और उसके साथ शारीरिक संबंध भी बनाए। युवती का कहना है कि 20 दिसंबर को कृष्णा की बहन ने उसे मां की तबियत का हवाला देकर वापस बुलाया। फिर कृष्णा ने उससे कह दिया कि मैं अब वापस नहीं आउंगा। तुम नौकरी ढूंढ लेना और किराए का कोई दूसरा कमरा देख लेना। युवती का आरोप है कि कृष्णा अब दूसरी जगह शादी करना चाहता है। जबकि वो अब कृष्णा से समाज के सामने रीति रिवाज से शादी करना चाहती है।

ये कहना है पुलिस अधिकारी का
वहीं एएसपी सुभाष चंद्र शाक्य ने बताया कि युवती बरेली की रहने वाली है। कटरा के रहने वाले लड़के के साथ उसके संबंध थे। वो लिव इन रिलेशनशिप में रह रहे थे। फिलहाल इस संबंध में थाना कटरा पर अभियोग पंजीकृत कराया गया है। जो भी साक्ष्य प्राप्त होंगे, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Show More
suchita mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned