थानाध्यक्ष ने महिला को रात में बुलाया, एएसपी बोले- ये कोई हूर की परी नहीं

थानाध्यक्ष ने महिला को रात में बुलाया, एएसपी बोले- ये कोई हूर की परी नहीं
Victim

Amit Sharma | Updated: 22 Jun 2017, 08:11:00 PM (IST) Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

उत्तर प्रदेश में जब योगी की पुलिस ही रोमियो बन जाए तो महिला सुरक्षा की बात करना बेमानी है।

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश में महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान देने के मुद्दे पर भाजपा ने जमकर वाहवाही लूटी। इसी मुद्दे पर 2017 के विधानसभा चुनाव में सपा सरकार को चारो खाने चित कर दिया। इतना ही नहीं यूपी में भाजपा सरकार बनते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने वादे के अनुरूप एंटी रोमियो दल का गठन भी कर दिया लेकिन अब पुलिस ही योगी सरकार की किरकिरी करा रही है।

यह भी पढ़ें : हमबिस्तर होने के बाद बॉयफ्रेंड ने कुछ ऐसा कहा कि गर्‌लफ्रेंड पहुंची थाने


थानाध्यक्ष पर गंभीर आरोप
शाहजहांपुर में एक युवती ने थानाध्यक्ष पर जो आरोप लगाए हैं उससे लखनऊ से लेकर दिल्ली तक के भाजपा नेताओं का सिर शर्म से झुक जाएंगे। यहां एक थानेदार ही रोमियो बना हुआ है। चर्चा इस तरह की भी है कि जिले का एक पुलिस अधिकारी उसकी पैरवी में जुटा हुआ है। वहीं पीड़ित युवती ने अब यूपी के सीएम से अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है। जिससे अब ये साफ़ है कि प्रदेश में महिलाएं अब भी सुरक्षित नहीं है।

यह भी पढ़ें : VIDEO होटल में प्रेमी के साथ पकड़ी विवाहिता बोली मेरा पति नपुंसक है

सीएम से इज्जत बचाने की गुहार
दरअसल थाना मिर्जापुर की रहने वाली एक महिला का घरेलू बंटवारे को लेकर जेठ नन्हे सिंह से विवाद है। जेठ नन्हे सिंह अपनी मर्जी से बंटबारा करना चाहते हैं। इसकी शिकायत जब महिला ने मिर्जापुर थाने के थानाध्यक्ष धनंजय सिंह से की तो धनंजय सिंह ने महिला से रात में आने को कहा। महिला का आरोप है कि थानाध्यक्ष ने उससे कहा कि रात को आना मैं तुम्हारा सारा काम करा दूंगा। डरी सहमी महिला गुरुवार को थानाध्यक्ष की शिकायत लेकर पुलिस के  आलाधिकारियों से मिली। महिला ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम भी एक चिठ्ठी लिखी है, जिसमें आरोपी थानाध्यक्ष धनंजय सिंह से अपनी इज्जत बचाने की गुहार लगाई है।

एएसपी का हैरान करने वाला जवाब

ख़ास बात ये है कि इस मामले में जब पुलिस अधीक्षक दफ्तर में बैठे अपर पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी से पूछा गय़ा तो उन्होंने हैरान करने वाला जवाब दिया। पुलिस अधीक्षक दिनेश त्रिपाठी ने कहा कि 'ये महिला कोई हूर की परी नहीं है जो हमारा थानाध्यक्ष इसे रात को बुलाएगा।' वहीं अब पीड़ित महिला को डर है कि उसके साथ कभी भी कोइ अनहोनी हो सकती है।  

पहले भी थानेदार बने 'रोमियो'
आपको बता दें कि शाहजहांपुर में थानेदारों के रोमियो बनने का ये कोइ पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी मार्च महीने में जिले में थाना जलालाबाद के सब इंस्पेक्टर राकेश शर्मा पर एक नवविवाहित युवती ने छेड़छाड़ और अश्लील बातें करने और रात को अपने आवास पर बुलाने का आरोप लगाया था। जिसमें जांच के बाद पुलिस अधीक्षक केबी सिंह ने आरोपी सब इंस्पेक्टर को निलंबित कर दिया था।    
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned