रिश्ते की चाची ने ही भतीजी की इज्जत लुटवाने का बनाया प्लान, दीवार कूद कर बचाई जान

रिश्ते की चाची ने ही भतीजी की इज्जत लुटवाने का बनाया प्लान, दीवार कूद कर बचाई जान

Amit Sharma | Publish: May, 09 2018 06:44:08 PM (IST) Shahjahanpur, Uttar Pradesh, India

छात्रा और उसका परिवार पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा लेकिन पत्थर दिल पुलिस वालों ने पीड़ित छात्रा और उसके परिवार को थाने से भगा दिया।

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में इन्सानियत को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जहां एक महिला ने ही अपनी बेटी समान कक्षा 10 की नाबालिग छात्रा को अपने घर लाकर जबरन अपने रिश्तेदार युवक के हवाले कर दिया और बाहर से कुंडी लगादी। घर के अंदर पहले से मौजूद युवक ने नाबालिग छात्रा के साथ रेप करने की कोशिश की। किसी तरह युवक के चंगुल से भागी छात्रा ने दीवार कूदकर अपनी आबरू बचाई। दबंग के चंगुल से छूटी छात्रा अपने परिजनों के साथ थाने पहुंची जहां रिपोर्ट लिखने के नाम पर छात्रा और उसके परिजनों को सुबह से लेकर रात तक थाने में बैठाये रखा लेकिन पीड़िता की रिपोर्ट नहीं लिखी। पीड़िता और उसके परिजनों का आरोप है इस दौरान थाने में रो रोकर गुहार लगाते रहे लेकिन पीड़िता और उसके परिवार को भगा दिया गया।

रिश्ते की चाची पर आरोप

घटना थाना कोतवाली कांट क्षेत्र के एक गांव की है। जहां कक्षा 10 में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा ने आरोप लगाया है कि पड़ोस में रहने वाली चाची अपने घर किसी काम के बहाने बुलाकर ले गई थी। जहां घर पहुंचने पर छात्रा को जबरन घर में बंद कर दिया और घर के बाहर से कुंडी लगा दी। घर में पहले से मौजूद महिला के रिश्तेदार रवि ने छात्रा को दबोच लिया और उसके साथ अश्लील हरकते करते हुए बलात्कार करने का प्रयास किया। किसी तरह शोर छात्रा रवि के चंगुल से छूटी। छात्रा ने पड़ोसी के के घर दीवार कूद कर अपनी जान बचाई। घर पहुंची छात्रा ने घटना अपने परिजनों को बताई। किसी तरह हिम्मत करके छात्रा परिजनों के साथ थाने पहुंची।

सुबह से शाम तक थाने में बैठी रही नाबालिग छात्रा

घटना के बाद जब छात्रा और उसके परिजन थाने में महिला और युवक के खिलाफ रिपोर्ट लिखाने पहुंचे तो रिपोर्ट लिखने के नाम पर थाने में सुबह नौ बजे से शाम तक बैठाया गया। इस दौरान छात्रा और उसका परिवार पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा लेकिन पत्थर दिल पुलिस वालों ने पीड़ित छात्रा और उसके परिवार को थाने से भगा दिया। जब इस मामले मेंं एसपी सिटी दिनेश चंद्र से बात की गई तो उन्होंने किसी भी जानकारी से इंकार कर दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned