अस्पताल बन गए, नहीं मिल पा रहे चिकित्सक

अस्पताल बन गए, नहीं मिल पा रहे चिकित्सक

Lalit Saxena | Publish: Oct, 14 2018 08:08:02 AM (IST) Shajapur, Madhya Pradesh, India

जिले में ही स्वास्थ्य सुविधाओं के हाल बेहाल, रेफर का चलता है खेल, जनता इस बार बनाएगी इसे चुनावी मुद्दा

शाजापुर. विधानसभा चुनाव में अलग-अलग दल अपना वर्चस्व कायम करने की तैयारी में जुट गए है। मतदाताओं को लुभाने की भी तैयारियों हो चुकी है, लेकिन मुख्य मुद्दों पर ध्यान दिया जाए तो पता लगता है कि जो मुद्दे पिछले चुनाव में सामने आए थे वो ही आज भी सामने ही है। ऐसा ही एक मुद्दा स्वास्थ्य सुविधाओं का है। विधानसभा क्षेत्र से लेकर पूरे जिले में ही स्वास्थ्य सुविधाओं का खासा अभाव बना हुआ है। विस क्षेत्र में अस्पताल बने, लेकिन स्टॉफ और डॉक्टर की व्यवस्था नहीं हो पाई है। इससे मरीजों को मुख्य अस्पतालों से भी रैफर करना पड़ता है।
जिला मुख्यालय राष्ट्रीय राजामार्ग क्रमांक-3 के किनारे बसा हुआ है। ऐसे में यहां पर दुर्घटनाएं आए दिन होती रहती हैं। ऐसे में यहां पर सबसे ज्यादा गंभीर घायलों के उपचार की व्यवस्था जरूरी है, लेकिन जिला अस्पताल में पर्याप्त स्टॉफ और डॉक्टर्स की कमी के कारण गंभीर हालत मेें मरीजों को इंदौर या उज्जैन ही रैफर करना पड़ता है। इस समस्या को हर कोई जानता है, लेकिन इस समस्या के निराकरण के लिए किसी भी दल या जनप्रतिनिधि ने कोई ठोस प्रयास नहीं किए। स्वास्थ्य सुविधाओं के हाल-बेहाल हो रहे हैं।
शहरवासियों ने बताई परेशानी
स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर जनप्रतिनिधि बात करते हैं, लेकिन काम नहीं करते है। स्टॉफ की कमी के कारण मरीजों की जान खतरे में रहती है। इस समस्या को दूर करना सबसे बड़ी चुनौती है।
मनोहर लाल गुप्ता, वरिष्ठ नागरिक-शाजापुर
अस्पताल में मरीजों को इस उम्मीद से लाया जाता है कि यहां पर उसका इलाज अच्छी तरह से हो पाएगा, लेकिन यहां आने के बाद पता लगता है कि उसे बड़े शहर के अस्पताल रैफर कर दिया है। यहां पर सुविधाएं और स्टॉफबढ़ाएं ताकि मरीजों को रैफर करना बंद हो सके।
घनश्याम फुलेरिया, व्यापारी-शाजापुर
स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने के लिए जनप्रतिनिधि दिखावा करतें है। दुर्घटना होने पर सीधे अस्पताल पहुंचते हैं और डॉक्टर पर चढ़ाई कर देतें है, मूल समस्या पर कोई ध्यान नहीं देता है।
गायत्री विजयवर्गीय, समाजसेवी-शाजापुर
जिला मुख्यालय पर सुविधा बढ़ाने के लिए ट्रामा सेंटर का निर्माण करा दिया है, लेकिन इसमें स्टॉफकी व्यवस्था अभी तक नहीं हुई है। जिससे इसका अभी तक कोई लाभ नहीं मिल पाया है।इसके लिए स्टॉफ की व्यवस्था करना सबसे ज्यादा जरूरी है।
केशव पाटीदार, युवा- शाजापुर
इनका कहना
मेरे कार्यकाल में जिला मुख्यालय पर ट्रामा सेंटर का निर्माण कराया है। इसका लोकार्पण भी हो गया है। जल्द ही यहां पर स्टॉफ और अन्य सुविधाएं भी मिल जाएंगी। अस्पतालों में स्टॉफ और डॉक्टर की कमी की समस्या पूरे प्रदेश में ही है। इसके बाद भी वरिष्ठ स्तर पर लगातार स्टॉफ और डॉक्टरों की मांग की गई है। इसके अतिरिक्त पूरे विधानसभा क्षेत्र में अस्पतालोंकी हालत में सुधार कराया है। सिटी डिस्पेंसरी भी खुलवाई है।
अरुण भीमावद, विधायक- शाजापुर

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned