कॉलेज स्टॉफ काउंसिल ने 38 साल बाद फिर से दोहराया इतिहास

कॉलेज स्टॉफ काउंसिल ने 38 साल बाद फिर से दोहराया इतिहास

Gopal Bajpai | Publish: Sep, 05 2018 10:44:46 PM (IST) Shajapur, Madhya Pradesh, India

स्टॉफ काउंसिल की बैठक में छात्रों के निष्कासन के लिए फैसले को किया रद्द

शाजापुर.

स्थानीय नवीन कॉलेज में करीब 38 साल पहले वर्ष 1979-80 में दर्जनभर विद्यार्थियों को मारपीट के मामले में स्टॉफ काउंसिल की बैठक निष्कासित कर दिया गया था। इस निष्कासन के बाद दोबारा स्टॉफ काउंसिल की बैठक आयोजित करके सभी छात्रों के निष्कासन को रद्द करते हुए दोबारा प्रवेश दिया गया था। 38 साल पुरान यह घटनाक्रम बुधवार को फिर से नवीन कॉलेज में दोहराया गया। जबकि स्टॉफ काउंसिल की बैठक करके कॉलेज से निष्कासित किए गए छात्रों के निष्कासन को बुधवार को दोबारा बैठक आयोजित करके रद्द कर दिया गया। इस फैसले से छात्र संगठनों सहित सभी ने खुशी जाहिर की है।

नवीन कॉलेज में करीब 3 माह पहले 19 मई तत्कालीन प्रभारी प्राचार्य डॉ. वीके शर्मा ने उनके साथ अभद्रता करने की बात कही थी। इसके बाद 21 मई को कॉलेज के छात्र एवं एबीवीपी के प्रांत सहमंत्री श्याम टेलर और सावन मालवीय को कॉलेज से निष्कासित करने के लिए स्टॉफ काउंसिल की बैठक में प्रस्ताव रखकर पास कराया था। वहीं प्रभारी प्राचार्य डॉ. शर्मा ने उक्त दोनों छात्रों को कॉलेज से निष्कासन की बात कही थी। इसके बाद नवीन कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ. शर्मा का उच्च शिक्षा विभाग ने स्थानांतरण कर दिया। हालांकि प्रभारी प्राचार्य डॉ. शर्मा ने इसके खिलाफ हाइकोर्ट में याचिका लगाई थी। काफी जद्दोजहद के बाद उनका स्थानांतरण हो गया। इधर दोनों छात्रों के निष्कासन के प्रस्ताव के बाद मामले की जांच करने के लिए एडी ने तीन प्राचार्यों की टीम गठित की थी। इस टीम की जांच में उक्त छात्र निर्दोष साबित हुए थे। ऐसे में 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर स्टॉफ कांउसिंल की बैठक आयोजित कर किसी भी छात्र का भविष्य बर्बाद नहीं करने को लेकर सहमति बनी और सभी ने दोनों छात्रों के निष्कासन के प्रस्ताव को वापस लेने के लिए सहमति दे दी। इसके बाद स्टॉफ काउंसिल ने निष्कासन के उक्त प्रस्ताव को वापस ले लिया।

शिक्षकों का किया सम्मान
नवीन कॉलेज में शिक्षक दिवस के अवसर विद्यार्थियों ने कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य डॉ. एसके मेहता सहित सभी प्राध्यापकों का पुष्पहार से स्वागत सम्मान किया। इस दौरान सभी एबीवीपी, एनएसयूआई सहित समस्त विद्यार्थियों ने कॉलेज के समस्त स्टॉफ से पूर्व में हुई किसी भी तरह की गलती के लिए क्षमा भी मांगी। इस दौरान बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे।

इनका कहना है
शिक्षक दिवस पर किसी भी छात्र का भविष्य बर्बाद नहीं हो इसके लिए स्टॉफ काउंसिल की बैठक में दोनों छात्रों के निष्कासन प्रस्ताव को रद्द कर दिया गया है।
- डॉ. एसके मेहता, प्रभारी प्राचार्य, नवीन कॉलेज-शाजापुर

Ad Block is Banned