भक्तों ने की सुख और समृद्धि की कामना

हनुमान अष्टमी पर रविवार सुबह से देररात तक हनुमान मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी।

By: Gopal Bajpai

Published: 11 Dec 2017, 12:34 PM IST

शाजापुर. हनुमान अष्टमी पर रविवार सुबह से देररात तक हनुमान मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटी। धार्मिक आयोजनों के बीच प्रसाद वितरण का सिलसिला जारी रहा। हजारों लोगों ने बाबा के दर्शन कर सुख-समृद्धि की कामना की।

 

शहर के प्रसिद्ध डांसी हनुमान मंदिर में अलसुबह बाबा का अभिषेक कर आकर्षक शृंगार कर मिठाई और चने-चिरौंजी का भोग लगाया गया। लोगों ने कतारबद्ध होकर बाबा के दर्शन लाभ लिए। रात ८ बजे हुई बाबा की महाआरती में भक्तोंं की भारी भीड़ उमड़ी। इसी प्रकार मुरादपुरा मंदिर में भी सुबह से ही भक्तों का तांता लगना शुरू हो गया। सुबह ५ बजे बाबा का अभिषेक किया जाकर आकर्षक शृंगार किया गया।
बाबा की एक झलक पाने के लिए भक्त काफी देर तक लाइन में खड़े रहे और जब नंबर आया तो बाबा के सामने मत्था टेककर आशीर्वाद लिया। वहीं बाबा को नुक्ती का भोग लगाया गया। बालवीर हनुमान मंदिर में किया गया बाबा का आकर्षक शृंगार देखते ही बन रहा था।

 

मंदिरों में उमड़ा भक्तों का सैलाब
रात ८ बजे हुई महाआरती में भक्तों का सैलाब उमड़ा, प्रसाद ग्रहण कर लोगों ने मनोकामना पूर्ण होने का आशीष लिया। मिंकी मोहल्ला स्थित संकटमोचन हनुमान मंदिर में भी हनुमान अष्टमी धार्मिक आयोजन के साथ मनाई गई। बाबा का अभिषेक व आकर्षक शृंगार किया गया। एबी रोड स्थित अतिप्राचीन फूलखेड़ी हनुमान मंदिर में सुबह बाबा का अभिषेक कर शृंगार किया गया। यहां दिनभर दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ रही। गिरवर हनुमान मंदिर में भी धार्मिक आयोजन देर रात तक चलते रहे।

 

मंदिरों में आकर्षक विद्युत सज्जा
मां राजराजेश्वरी मंदिर के पीछे स्थित खेड़ापति हनुमान मंदिर पर भी दिनभर भक्तों की भीड़ लगी रही। हनुमान चौराहा स्थित विजयश्री हनुमान मंदिर पर आकर्षक विद्युत सज्जा के साथ हनुमानजी का शृंगार किया गया। यहां पर दिनभर भक्तों को नुक्ती की प्रसादी का वितरण किया गया। सुबह से ही भक्तों की कतारें मंदिर परिसर में लग गईं। इसी क्रम में विजयनगर हनुमान मंदिर, भावसार मोहल्ला स्थित हनुमान मंदिर सहित नगर के 101 मंदिरों में हनुमान अष्टमी के अवसर पर बाबा का आकर्षक शृंगार किया गया। सभी मंदिरों में देर रात तक भक्तों की भीड़ दर्शनार्थ जुटी रही।

Gopal Bajpai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned