धूप में संभल कर निकलें वरना हो जाएगा ऐसा हाल

अभी तो नवतपा को एक दिन शेष है, लेकिन शहरवासियों को आग उगलने वाली गर्मी का सामने अभी से करना पड़ रहा है।

By: Lalit Saxena

Published: 24 May 2018, 10:00 AM IST

शाजापुर. अभी तो नवतपा को एक दिन शेष है, लेकिन शहरवासियों को आग उगलने वाली गर्मी का सामने अभी से करना पड़ रहा है। मई के शुरू होते ही लू की थपेड़े शुरू हो गए थे। कुछ दिनों से तापमान में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। गर्मी ने पिछले साल का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। ऐसे में राहगीरों को अब लू थपेड़े परेशान कर रहे हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अब पूरा मई गर्मी कम होने के आसार नहीं हैं। इधर लगातार बढ़ती गर्मी से सड़कों का डामर पिघल रहा है। छत पर रखी टंकियों का पानी उबल रहा है। २५ से नवतपा शुरू होने से गर्मी बढऩे की उम्मीद और बढ़ गई है, जो चिंता का विषय है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग भी अब आमजन को गर्मी से बचने और सावधान बरतने की अपील कर रहा है।
मंगलवार को अधिकतम तापमान ४५.६ डिग्री रहा, जिसने पिछले साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। इसके बाद बुधवार को तापमान ४५.५ डिग्री दर्ज किया गया। इधर मंगलवार-बुधवार की रात सीजन की सबसे गर्म रात रही। इस रात न्यूनतम तापमान ३१ डिग्री दर्ज किया गया। यानी लोगों को रात में भी गर्मी से निजात नहीं मिल पा रही है। हालात यह है कि पंखों के बाद अब कूलर भी ठंडी हवा नहीं दे पा रहे हैं।
स्वास्थ्य विभाग ने की अपील
स्वास्थ्य विभाग ने गर्मी के प्रकोप को देखते हुए लोगों से सावधानी बरतने की अपील की है। सीएमएचओ डॉ. जीएस सोढ़ी ने आमजन से अपील की है कि भीषण गर्मी को देखते हुए सावधानियां एवं बचाव के लिए उपचार व्यवस्था की जाए तो आम जन लू से बच सकता है। अत्यधिक गर्मी में लू की आशका बढ़ जाती है। जो जानलेवा भी हो सकती है।
गर्मी का रौद्र रूप : बिजली कटौती ने और किया परेशान
शुजालपुर. तीन दिनों से क्षेत्र में गर्मी का रौद्र रूप बना हुआ है। तीन दिनों से अधिकतम तापमान 45 डिग्री तक पहुंच रहा है। साथ ही न्यूनतम तापमान भी 30 डिग्री के आसपास रहा। सबे मालवा कहे जाने वाले इस क्षेत्र में रात में भी गर्म हवा महसूस हो रही है। भीषण गर्मी के चलते दोपहर 12 से 3 बजे तक चिलचिलाती धूप लोगों को घरों में बांधे हुए है। गर्मी के प्रकोप के कारण मौसमी बीमारी भी लोगों को जकड़ रही है। अस्पतालों में उल्टी-दस्त के मरीजों की संख्या निरंतर बढ़ रही है। बुधवार को जहां पारा तमतमाया हुआ था वहीं बिजली कटौती ने और भी कहर बरपाया। सुबह लगभग 11.30 बजे जो बिजली गुल हुई तो 1 बजे तक नहीं आई। बिजली कंपनी अधिकारियों के अनुसार तकनीकी खराबी आने के कारण बिजली गुल रही। दो दिन बाद रोहिणी नक्षत्र लगना है। इसमें आने वाले नौतपा के दौरान पारा और कहां तक पहुंचेगा यह सोचकर ही लोगों के पसीन छूट रहे हैं।

Lalit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned