मौसम बदलने से बिगडऩे लगी तबीयत, बढऩे लगी मरीजों की संख्या

सर्दी-जुकाम, बुखार के मरीज बढ़े, सर्द हवाओं से बचने की सलाह दे रहे डॉक्टर

By: anees khan

Published: 06 Jan 2020, 09:58 PM IST

शाजापुर.
सर्दी में उतरते चढ़ते तापमान ने अब लोगों की सेहत को बिगाडऩा शुरू कर दिया है। जिला अस्पताल की ओपीडी में ऐसे मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। वायरल, बदन दर्द, सर्दी, जुकाम से पीडि़त मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है। इसके अलावा शहर के प्राइवेट क्लीनिकों पर भी सैकड़ों मरीज पहुंच रहे हैं। एक सप्ताह में सर्वाधिक मरीज सोमवार को जिला अस्पताल पहुंचे। इस दिन ओपीडी में ७१५ मरीज उपचार के लिए वहीं ८८ मरीजों को भर्ती किया गया। जबकि इससे पहले ५०० के करीब मरीज जिला अस्पताल पहुंच रहे थे।
एक सप्ताह से बड़ी ठंड अब कम होने लगी है, लेकिन मौसम के उतार चढ़ाव और सर्द हवाओं से लोगों की सेहत बिगड़ रही है। शहर के अस्पतालों में बीमार बुजुर्ग, युवा और बच्चों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। जिला अस्पताल में हालात यह हैं कि पर्ची कटाने के लिए दोपहर दो बजे तक ओपीडी के सामने लाइन लगी रहती है। जिला अस्पताल में हर दिन १०० से अधिक मरीज सर्दी, जुकाम, खांसी, बदन दर्द और सांस रोग के आ रहे हैं।
बता दें कि मौसम परिवर्तन के बाद लगातार मरीजों की संख्या बढऩे लगी है। खासकर बुखार से पीडि़त मरीज ज्यादा सामने आ रहे हैं। सोमवार को जिला अस्पताल की ओपीडी में सुबह से ही मरीजों की भीड़ रही। पंजीकरण कक्ष, दवा वितरण कक्ष के साथ ही डाक्टरों के कमरों में बड़ी संख्या में मरीजों की भीड़ देखी गई। इधर चिकित्सक भी मरीजों को स्वास्थ्य के प्रति जागरुक रहने की सलाह दे रहे है, साथ ही ठंडी हवाओं से बचने और खानपान पर ध्यान देने की बात कही जा रही है। शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. उमेश गौतम ने बताया कि ९० प्रतिशत मरीज सर्दी-खांसी के पहुंच रहे हैं। ऐसे में बच्चों को गर्म कपड़े में रहने और सर्द हवाओं से बचने की सलाह दी जा रही है। सही समस्या ज्यादातर बड़े मरीजों में भी देखी जा रही है।

इस तरह बढ़ रही मरीजों की संख्या
तारीख ओपीडी भर्ती मरीज
०६ जनवरी ७१५ ८८
०५ जनवरी १४४ ६१ अवकाश
०४ जनवरी ५१० ८५
०३ जनवरी ४५५ ९०
०२ जनवरी ३७६ ६६
०१ जनवरी ४१३ ६५
३१ दिसंबर ५२६ ७४
३० दिसंबर ६४६ ७१

Show More
anees khan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned