यहां पर फिर से ग्रामीणों ने कर दिया चक्काजाम

यहां पर फिर से ग्रामीणों ने कर दिया चक्काजाम

Gopal Swaroop Bajpai | Publish: Feb, 10 2019 10:12:07 PM (IST) Shajapur, Shajapur, Madhya Pradesh, India

शाजापुर-बिजाना मार्ग पर अंडरब्रिज की मांग को लेकर ग्रामीण कर रहे आए दिन प्रदर्शन, नहीं हो रही सुनवाई

शाजापुर.

शाजापुर-बिजाना मार्ग से होकर गुजर रहे बायपास पर अंडरब्रिज की मांग को लेकर एक बार फिर रविवार को ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। यहां से गुजरने वाले वाहनों को रोककर अंडरब्रिज बनाने के लिए नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

दरअसल शाजापुर-बिजाना रोड पर दर्जनों ग्रामों से लोग शहर में आना-जाना करते है। इस मार्ग से होकर शाजापुर के समीप बायपास बनाया जा रहा है। इस बायपास निर्माण के कारण शाजापुर-बिजाना मार्ग बायपास से करीब 15 फीट नीचे हो गया है। ऐसे में यहां से गुजरने में लोगों को हर वक्त हादसे का डर बना रहेगा। इसी कारण से इस क्षेत्र के ग्रामीणों ने यहां पर अंडरब्रिज की मांग की थी, लेकिन निर्माण एजेंसी ने यहां अंडरब्रिज नहीं बनाया। निर्माण एजेंसी के ठेकेदार ने बताया कि उन्हें जो डिजाइन मिला है उसके हिसाब से ही उन्होंने निर्माण किया है। ऐसे में ग्रामीणों ने निर्माण एजेंसी से लेकर कलेक्टर और जनप्रतिनिधियों से भी गुहार लगाई, लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकला है। इस स्थिति में अब ग्रामीणों ने रविवार को यहां पर दोबारा एकत्रित होकर अंडरब्रिज निर्माण की मांग की।

संसार में ना तो सुख है और ना ही दुख है
शाजापुर.
संसार में ना तो सुख है और ना ही दुख है। व्यक्ति स्वयं सुख और दुख का निर्माण करता है। हम दिन-रात भागदौड़ कर रहे हैं फिर भी सुख कम और दुख ज्यादा मिलता है और उसका दोष हम कर्मों पर डाल देते हैं। हमारे पास रोल एवं रियलिटी दोनों हैं। हम रोल में जीना चाहते हैं और रियलिटी से दूर रहते हैं। जीवन को सुखमय बनाने के लिए दशा-दिशा और दृष्टि में परिवर्तन जरूरी है।

उक्त आशीर्वचन जैनसंत तीर्थरत्नसागर मसा ने रविवार को स्थानीय ओसवालसेरी स्थित जैन उपाश्रय में आयोजित धर्मसभा में उपस्थितजनों को प्रदान किए। इसके पूर्व टंकी चौराहे से जैनमुनि का नगर प्रवेश हुआ और वे समाजजनों की अगवानी में प्रमुख मार्गों से होते हुए जैन उपाश्रय पहुंचे। यहां प्रवचन देते हुए जैनमुनि ने कहा कि हम भगवान को आदतन याद करते हैं जब विपत्ति आती है तो भगवान याद आते हैं। हमारे जीवन में दुख किसी व्यक्ति या परिवार से नहीं आता है बल्कि इसका कारण ये है कि हम सम्मिलित परिवार में रहना ही पसंद नहीं करते हैं। हमने परिवार को हम दो और हमारे दो तक सीमित कर दिया है। एक सफल जीवन के लिए तीन बातें जरूरी है, एजेस्ट करना, एक्सेप्ट करना और अवाइड करना, जो जीवन का यह मूलमंत्र सीख गया समझो उसकी जीवन यात्रा सफल हो गई। इस दौरान बड़ी संख्या में समाजजन उपस्थित थे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned