जानिए क्यों..? देश विदेश की कंपनियों के प्रतिनिधि घुमे जिले के 11 गांव में

450 मेगावॉट बिजली पैदा करने वाला सौलर पार्क 1800 करोड़ की लागत से 1272.822 हेक्टेयर क्षेत्र में होगा स्थापित, इंवेस्टर्स ने देखी सोलर पार्क की भूमि

By: Piyush bhawsar

Published: 28 Feb 2020, 06:00 AM IST

शाजापुर.

जिले में 450 मेगावॉट बिजली उत्पादन के लिए करीब 1800 करोड़ की लागत से सौलर पार्क स्थापित किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा कुल 1272.822 हेक्टेयर जमीन आरक्षित की गई है। इसी जमीन की स्थिति को देखने के लिए गुरुवार को देश-विदेश के इंवेस्टर 17 कंपनियों के प्रतिनिधि शाजापुर पहुंचे। जिले के चयनित कुल 11 ग्रामों की उक्त भूमि का इंवेस्टर्स ने निरीक्षण किया।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री कमल नाथ की प्राथमिकता वाले कार्यक्रम के तहत शाजापुर जिले में गैर परंपरागत ऊर्जा के स्रोत के रूप में सौर ऊर्जा संयंत्रों के समूह ‘सोलर पार्क’ की स्थापना की जाएगी। जिले की शाजापुर एवं मो. बड़ोदिया तहसील के कुल 11 ग्रामों की 1272.822 हेक्टेयर क्षेत्र पड़त भूमि पर सोलर पार्क की स्थापना के उपरांत 450 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा। इस परियोजना की लागत करीब 1800 करोड़ रुपए है। जल संसाधन मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा के प्रयासों से यह परियोजना शाजापुर जिले में आई है। इस सोलर पार्क को मार्च 2022 तक पूर्ण किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। इस सोलर पार्क से प्रदेश की विद्युत वितरण कंपनियों को बिजली प्रदान की जाएगी तथा वहां से उपभोक्ताओं को बिजली प्राप्त होगी। मंत्री कराड़ा ने बताया कि इस संयंत्र की स्थापना से प्रदेश की ऊर्जा जरूरतों की पूर्ति होगी तथा क्षेत्र का विकास भी होगा।

अलग-अलग 11 ग्राम में आरक्षित की है पड़त भूमि
सोलर पार्क के लिए शाजापुर तहसील के ग्राम हनौती में 164.61 हेक्टेयर, सूरजपुर में 53.74 हेक्टेयर तथा लालपुर में 173.572 हेक्टेयर कुल 391.922 हेक्टेयर भूमि चिह्नित की गई है। इसी तरह मो. बड़ोदिया तहसील के ग्राम जावदी में 53.24 हेक्टेयर, परसुला में 137.02 हेक्टेयर, फावका में 22.62 हेक्टेयर, धतरावदा में 218.2 हेक्टेयर, देहरीपाल में 154.66 हेक्टेयर, चौमा में 55.5 हेक्टेयर, बुरलाय में 95.23 हेक्टेयर तथा बिजनखेड़ी में 144.43 हेक्टेयर कुल 880.9 हेक्टेयर भूमि चिह्नित की गई है। इस प्रकार शाजापुर एवं मो. बड़ोदिया तहसील के 11 ग्रामों में कुल 1272.822 हेक्टेयर भूमि चिह्नित की गई है।

6 विदेशी कंपनियों के प्रतिनिधि भी शामिल रहे इंवेस्टर्स में
सोलर पार्क स्थापना करने के इच्छुक 17 कंपनियां जिसमें 6 विदेशी कंपनियां भी हैं उनके इंवेस्टर्स ने गुरुवार को सोलर पार्क के लिए आरक्षित भूमि का अवलोकन किया। इसके पूर्व इंवेस्टर्स ने नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा सलाहकार बीएल कासट, कार्यपालन यंत्री अवनीश शुक्ला एवं संजय वर्मा के साथ कलेक्टर डॉ. वीरेंद्रसिंह रावत से मुलाकात की। कलेक्टर ने इंवेस्टर्स से कहा कि सोलर पार्क के लिए आवंटित भूमि सर्वथा उपयुक्त है। जरूरत पडऩे पर और भी भूमि आवंटित की जा सकती है। सोलर पार्क के लिए आरक्षित भूमि का अवलोकन करने के लिए इनेल ग्रीन पॉवर, राइजिंग सन एनर्जी, बीएचईएल, गेल, इडेन रिनिवेबल एनर्जी, विक्टर ग्रीन कंपनी, टाटा पॉवर रिनिवेबल एनर्जी, एनटीपीसी, ज्यूनिपर ग्रीन एनर्जी, रिनिव पॉवर प्रालि, एएमपी एनर्जी, एसबी एनर्जी, एनजील सोलर, जेएसडब्ल्यू एनर्जी, स्प्रींग एनर्जी, एओन एनर्जी, सोलर पेक एनर्जी कंपनी के प्रतिनिधि उपस्थित थे। इस अवसर पर शाजापुर में अनुविभागीय अधिकारी यूएस मरावी, तहसीलदार सत्येंद्र बैरवा, मो. बड़ोदिया में तहसीलदार डॉ. मुन्न अड़ एवं जिला अक्षय ऊर्जा अधिकारी दीपक गुलानी भी उपस्थित रहे।

Show More
Piyush bhawsar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned